फटाफट (25 नई पोस्ट):

Monday, June 14, 2010

हमें खिलाकर ताज़ा खाना माँ बासी रोटी खाती थी


देवेश पाण्डेय जनवरी 2010 से हिन्द-युग्म पर सक्रिय हैं। यह इनकी तीसरी रचना है जिसने मई 2010 की यूनिकवि प्रतियोगिता में सातवाँ स्थान बनाया है।

पुरस्कृत कविताः माँ

1-
माँ क्या है?
एक शब्द
एक भाव
एक खुश्बू
एक ध्वनि
एक दृश्य !
क्या है माँ .....?

जब पैदा हुआ तो
स्पर्श से पहचानता था
दो माह का हुआ तो
आहट से जानता था
पहले छः माह दूध जैसी लगती थी
बाद में उसे रोटी से जान लेता था
महक जो उठती थी रसोई से,घर के चौरे से,
उसे नथुनों में भर के पहचान लेता था
बस एक माँ ही है स्वर्ग दुनिया में
जब-जब आँख खोली मै जान लेता था

अलग-अलग समय पर ही सही
पर शायद एक माँ ही वो अहसास है
जिसका स्वाद हमारी पाँचो इन्द्रियाँ जानती है

2-
आँगन में सब बैठे थे
बच्चे बूढ़े और जवान
खेल कूदकर थककर आया
मै माँ की गोद में लेट गया
चढ़ी धूप तो छाँव की खातिर
माँ का आँचल खीच लिया
गैरो के आगे बेपर्दा माँ
वात्सल्य से ढक जाती है

3-
जून की चिलचिलाती धूप में
काम पे जा रही माँ के पीछे-पीछे
एक अबोध आँगन तक चला आया
बच्चे का पाँव झुलसकर रह गया
दोनों रो रहे थे
बच्चे की आँख और माँ का दिल!

4-
हम बेसुध खेला करते थे
माँ हमें खिलाने आती थी
“पापा से कह दूँगी “
“ना” कहने पर यूँ डराती थी
हमें खिलाकर ताज़ा खाना
माँ बासी रोटी खाती थी

5-
नदी की कलरव में तुम हो
पंछी की कोलाहल में तुम हो
बहती हुई हवा में तुम हो
पेडों की छाया में तुम हो
तुम्हे भूल जाऊँ मैं कैसे
माँ मेरी हर धडकन में तुम हो !!

पुरस्कार: विचार और संस्कृति की पत्रिका ’समयांतर’ की एक वर्ष की निःशुल्क सदस्यता।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

16 कविताप्रेमियों का कहना है :

उम्मेद गोठवाल का कहना है कि -

मां के विभिन्न रूपों को मार्मिकता के साथ अभिव्यक्त करती सार्थक व सशक्त कविता..बधाई।

आशीष मिश्रा का कहना है कि -

अति उत्तम समय मिले तो हमारे ब्लॉग पर भी पधारिएगा

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

मां मगर वो सुख नहीं है, जो तुम्हारे प्यार में है..

मनोज कुमार का कहना है कि -

मां को समर्पित कविता गहरे भाव लिए है।

दिलीप का कहना है कि -

maa par likhi rachna par kya bolun sab badhiya...

Jandunia का कहना है कि -

nice post

वाणी गीत का कहना है कि -

हमें खिलाकर ताज़ा खाना
माँ बासी रोटी खाती थी...
आज भी माँ ऐसा करती है ...पता नहीं क्यों

M VERMA का कहना है कि -

माँ क्या है?
एक शब्द
एक भाव
एक खुश्बू
एक ध्वनि
एक दृश्य !
क्या है माँ .....?
--------
माँ एक शब्द नहीं
एहसास है
एक अटूट रिश्ता;
एक विश्वास है
माँ को नमन

डा.राष्ट्रप्रेमी का कहना है कि -

नदी की कलरव में तुम हो
पंछी की कोलाहल में तुम हो
बहती हुई हवा में तुम हो
पेडों की छाया में तुम हो
तुम्हे भूल जाऊँ मैं कैसे
माँ मेरी हर धडकन में तुम हो !!
काश! हम मां को हर जगह महसूस कर पाते महिलाओं पर होने वाले अनाचार रुक जाते.

निर्मला कपिला का कहना है कि -

अलग-अलग समय पर ही सही
पर शायद एक माँ ही वो अहसास है
जिसका स्वाद हमारी पाँचो इन्द्रियाँ जानती है
sशायद माँ के लिये इस से अच्छी परिभाशा और नही हो सकती। बहुत अच्छी लगी कविता --बधाई

VaRtIkA का कहना है कि -

maa ke liye kahi gayi in baaton me har harf poojne yogya hai ... mujhe jo baat sabse jyada pasand aayi wo hai in kavitaon ki sarlta..seedhi sadi hote hue bhi ye dil me gahre tak utarti hain ..sach much ..maa mamtamayi hai ..maa kavitamayi hai .. :)

Deepali Sangwan का कहना है कि -

माँ क्या है?
एक शब्द
एक भाव
एक खुश्बू
एक ध्वनि
एक दृश्य !
क्या है माँ .....?


maa ke liye kaha gaya har shabd poojniya hota hai.. is duniya mein sabse khoobsurat kriti ishwar ki 'maa' hi hai.. maa se badhkar to koi bhi nahi hai, kehte hain ishwar har jagah nahi ho sakta isi liye usne Maa banai..
maa ko samarpit yeh chhoti chhoti kavitaayein acchi lagi.
agar kavita ko kavita ke nazariye se dekha jaye to repetition jyada hai, upar quote ki gai kuch lines ke alawa, kavita ki shaili missing hai, aur naye pan ki thodi kami khalti hai.
likhte rahiye.
badhai

आलोक उपाध्याय का कहना है कि -

गैरो के आगे बेपर्दा माँ
वात्सल्य से ढक जाती है

...................
वाह देवेश जी वाह
बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत बहुत खूब
दिल निकाल के रख देने वाली बात कह दी आपने

ढेर सारी बधाईयाँ ....जारी रखिये

आलोक उपाध्याय "नज़र"

raybanoutlet001 का कहना है कि -

michael kors handbags
ray ban sunglasses
fitflops shoes
michael kors outlet
toms shoes
michael kors handbags
michael kors outlet
michael kors handbags
chaussure louboutin pas cher
louis vuitton sacs

Unknown का कहना है कि -

toms shoes at
skechers shoes cute!
cheap nike shoes special
bills jerseys go
toms outlet updating
michael kors handbags We
salomon boots this
lebron james shoes counting
louis vuitton sacs and
kansas city chiefs jerseys weekly

raybanoutlet001 का कहना है कि -

michael kors handbags
los angeles lakers
michael kors handbags
michael kors outlet
michael kors outlet
cheap jordans
oakley sunglasses
cheap basketball shoes
michael kors outlet online
michael kors handbags

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)