फटाफट (25 नई पोस्ट):

Tuesday, March 10, 2009

होली के कई रंग (छोटी कविताएँ और क्षणिकाएँ)


गुलाल की छींटें
जो बिखराए थे कभी राहों में
मेरा फागुन
आज भी महका जाती हैं
छूती हैं हौले से मुझे
मन चन्दन हो जाता है
-------------------------------
सामने थाल में हो जब
बर्फी, गुझिया रसीले
तो मीठी है होली
पर हो जब उसमें
भूख, बेबसी, गरीबी
तो कहो कैसी है होली?
------------------------------
रंग तुम्हारे
चुपचाप मेरे जीवन में
चले आते हैं
बेनूर चूनर पर
बरस
मुझ में समा जाते हैं
मै सतरंगी हो जाती हूँ

-------------------------------
रंग पर चढ़ के
शब्द तुम्हारे
गलियारे में उधम मचाते हैं
रात डेवड़ी पर
औंधेमुँह सो जाते हैं
फींके सपने मेरे
इन्द्रधनुषी हो जाते हैं
-------------------------------
बचा सबकी नज़र
मुझ पर फेंका
प्रेम रंग
उस का अभ्रक
चुभता है आज भी आँखों में
हर होली आँखें बरस जाती हैं
-------------------------------
पकवानों की मेज पर
कहकहों की भीड़ में
उन मासूम हाथों ने कुछ माँगा
झिड़कियां, दुत्कार, फफ्तियाँ
सभ्य लोगों की सभ्यता
कुछ यूँ मिली उसको
नौकर ने हाथ पकड़
बाहर का रास्ता दिखलाया
वो सहमी टुकुर-टुकुर देखती रही
महक से ही पेट भरती रही
यहाँ रंग और भंग का
खेल चलता रहा
वो भूख के अंधियारों में भटकती रही
-------------------------------------
होली की मस्ती में
खेला खूब रंग
उधड़ी त्वचा बाल गिरा
आँखें हो गईं लाल
टेसू के रंग नहीं
रसायनिक हैं अबीर गुलाल
---------------------------------------
महँगाई की मार
गरीबों के रसोई पर पड़ती है
इनके घर
गुझिया कहाँ तलती है
रंग है नहीं
तो कीचड़ से चलते हैं काम
सोचती हूँ
क्या त्यौहार में भी नहीं आते हैं
इनके घर भगवान
-------------------------------------
बुराई जली
प्रह्‌लाद बचा
तो होली का रंग सजा
आज चहुँओर है
होलिका का राज
कोने में जल रहा प्रह्‌लाद
फिर कैसी होली है आज

रचना श्रीवास्तव

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

16 कविताप्रेमियों का कहना है :

seema gupta का कहना है कि -

आपको तथा आपके पुरे परिवार को मेरे तरफ से रंगीन होली की ढेरो बधईयाँ और शुभकामनाएं..
चन्दन की खुशबु
रेशम का हार
सावन की सुगंध
बारिश की फुहार
राधा की उम्मीद
"कन्हैया' का प्यार
मुबारक हो आपको
होली का त्यौहार

Regards

हिमांशु । Himanshu का कहना है कि -

"होली की मस्ती में
खेला खूब रंग
उधड़ी त्वचा बाल गिरा
आँखें हो गईं लाल
टेसू के रंग नहीं
रसायनिक हैं अबीर गुलाल"

सच्ची बात कही आपने । इन रासायनिक रंगों ने होली की रंगत बिगाड़ कर रख दी है । धन्यवाद ।

अक्षत विचार का कहना है कि -

आपको होली की ढेर सारी शुभकामनायें...

pooja का कहना है कि -

रचना जी,
बहुत ही सारगर्भित क्षणिकाएं लिखी हैं आपने, किसी एक की तारीफ नहीं कर सकती, क्योंकि सभी बहुत अच्छी लगी. बधाई.

होली पर आपको ढेरों शुभकामनाएं.
पूजा अनिल

शोभा का कहना है कि -

बचा सबकी नज़र
मुझ पर फेंका
प्रेम रंग
उस का अभ्रक
चुभता है आज भी आँखों में
हर होली आँखें बरस जाती हैं
-------------------------------वाह बहुत सुन्दर। होली मुबारक।

आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' का कहना है कि -

होली हो ली, हो रही, होयेगी सच मान.

हर संपन्न-विपन्न की, होली रहे समान.

होली रहे समान सभी रंग खेलें जी भर.

गले मिलें सब बैर भुला गह बांह परस्पर.

कहे 'सलिल' कविराय करो मिल हँसी-ठिठोली.

लेकर हर्ष-हुलास प्यार से खेलो होली.

shanno का कहना है कि -

सबको होली मुबारक हो !!

रंग लायी रे, होली फिर से आई रे
घर-घर में बिखरा जाए गुलाल
दिल में ना रखो कोई मलाल
बर्फी, इमरती और गुझियें खाओ
गले मिलो और मौज मनाओ.

vinay k joshi का कहना है कि -

रंग पर चढ़ के
शब्द तुम्हारे
गलियारे में उधम मचाते हैं
रात डेवड़ी पर
औंधेमुँह सो जाते हैं
फींके सपने मेरे
इन्द्रधनुषी हो जाते हैं
*
सभी क्षणिकाएं bahut अच्छी है , उपरोक्त विशेष !
होली की शुभकामनाएं |
विनय के जोशी

rachana का कहना है कि -

आप सभी को मेरी तरफ से और मेरे पूरे परिवार की तरफ से होली की शुभकामनायें .आप ने मेरी कविता पसंद की ये आप का प्यार है .इसे एसे ही बनाये रखियेगा यही अनुरोध है .
सादर
रचना ,अविनाश

MAYUR का कहना है कि -

होली की मुबारकबाद,पिछले कई दिनों से हम एक श्रंखला चला रहे हैं "रंग बरसे आप झूमे " आज उसके समापन अवसर पर हम आपको होली मनाने अपने ब्लॉग पर आमंत्रित करते हैं .अपनी अपनी डगर । उम्मीद है आप आकर रंगों का एहसास करेंगे और अपने विचारों से हमें अवगत कराएंगे .sarparast.blogspot.com

manu का कहना है कि -

रचना जी,
आपकी कलम की तारीफ़ लिखना इतना आसान नहीं होता,,,,,,,आप हर पहलू को बेहद ध्यान से देख कर बहुत ही करीने से शब्दों में सजाती हैं,,,इश्वर करे सदा आपकी लेखनी से जीवन के रंग यूं ही बिखरते रहे,,,,,,,,
अविनाशजी,,,,,मंच पर आपका विशेष स्वागत,,,,,
आपको रचना जी को,,,,एवं समस्त परिवार को,,,
मेरी और से होली की शुभकामनाये,,,,,,,,,,,

सीमा सचदेव का कहना है कि -

बचा सबकी नज़र
मुझ पर फेंका
प्रेम रंग
उस का अभ्रक
चुभता है आज भी आँखों में
हर होली आँखें बरस जाती हैं
Rachana ji har baat laajavaab hai .
HOLI KI AAPKO TATHA AAPKE PARIVAAR KO DHERO SHUBHKAAMNAAYEN .

देवेन्द्र कुमार मिश्रा का कहना है कि -

आप सभी को मेरी तरफ से और मेरे पूरे परिवार की तरफ से होली की शुभकामनायें

Unknown का कहना है कि -

nike trainers add
cincinnati bengals jerseys stuffed
michael kors outlet super
jaguars jersey Five
nike blazer post
nhl jerseys treat!
christian louboutin shoes this
converse trainers for
air jordan uk first
michael kors outlet throw
nike trainers add
cincinnati bengals jerseys stuffed
michael kors outlet super
jaguars jersey Five
nike blazer post
nhl jerseys treat!
christian louboutin shoes this
converse trainers for
air jordan uk first
michael kors outlet throw

raybanoutlet001 का कहना है कि -

north face
michael kors handbags outlet
chicago bulls jersey
the north face
michael kors outlet
houston texans jerseys
omega watches for sale
boston celtics
denver broncos jerseys
nike air max 90

alice asd का कहना है कि -

new york giants jerseys
coach outlet online
true religion outlet
replica rolex
snapbacks wholesale
cheap mlb jerseys
polo outlet
carolina jerseys
cheap michael kors handbags
fitflops
20170429alice0589

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)