फटाफट (25 नई पोस्ट):

Friday, September 12, 2008

ईद पर कविताएँ आमंत्रित


काव्य-पल्लवन विषय-विशेष हो या विधा-विशेष हो?- इस पर हुई तीन दिवसीय चर्चा के बाद हमने काव्य-पल्लवन को इस बार भी किसी एक विषय पर ही कराने का निर्णय लिया है।

यह महीना रमजान का है। अगले महीने की २ तारीख को ईद है, उसी दिन महात्मा गाँधी की जयन्ती भी है। गाँधी जी पर हम पहले भी कविताएँ प्रकाशित करते रहे हैं, लेकिन पिछले २ वर्षों में ईद पर बहुत कम कविताएँ हिन्द-युग्म पर प्रकाशित हुईं।

इसलिए इस माह का काव्य-पल्लवन 'ईद' पर केन्द्रित होगा। इसके अंतर्गत भाईचारा, रमजान आदि विषयों की कविताएँ भी संकलित होंगी। अपनी मौलिक रचनाएँ २४ सितम्बर २००८ तक kavyapallavan@gmail.com पर भेजें। ईद-विशेषांक काव्य-पल्लवन २५ सितम्बर को हिन्द-युग्म पर प्रकाशित होगा।

काव्य-पल्लवन के लिए जो पाठक नये हैं, वो यहाँ देखें।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 कविताप्रेमियों का कहना है :

SURINDER RATTI का कहना है कि -

हिन्दयुग्म की टीम ने सही निर्णय लिया है और विषय भी अच्छा है - धन्यवाद - सुरिन्दर रत्ती

सजीव सारथी का कहना है कि -

बढ़िया विषय है

"SURE" का कहना है कि -

सही निर्णय के लिए हिंद युग्म का धन्यवाद -ईद पर रचनाये आमंत्रित करके हिंद युग्म ने अपनी पाकीजा सदभावना का परिचय तो दिया ही साथ ही साथ भारतवर्ष के विशाल सांस्कृतिक कद को भी दुनिया के रु-ब -रु करने का कार्य किया है,जो की स्वयम में महात्मा गाँधी जी को भी एक श्रधान्जली है उनसे बड़ा सदभाविक व्यक्ति कौन हो सकता है ,उन्होंने ये भी तो कहा था
ईश्वर अल्लाह तेरे नाम
सब को सम्मति दे भगवान -धन्यवाद

vivek ranjan shrivastava का कहना है कि -

swagt...स्वतंत्र रचनाओ हेतु तो यूनीकवि प्रतियोगिता है ही
काव्य पल्लवन ने अपनी विषय विशेष विशेषता के लिये पहचान बनाई है .ईद ..per bhut ummid hai.

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

बढ़िया विषय है

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)