फटाफट (25 नई पोस्ट):

Saturday, November 21, 2009

मैं सहराओं में इतने अश्क ज़ाया करके आई हूँ


प्रतियोगिता की नौवीं कविता की रचयित्री लता हया कविता की मंचीय परम्परा का नामचीन सितारा हैं। एक हिन्दू ब्राह्मण मारवाड़ी परिवार में जन्म लेकर उर्दू अदब के मंचीय खानदान तक पहुँच को आसान बनाने का श्रेय लता को जाता है। अलिफ़ लैला, कृष्णा, कुंती, औरत, अमानत, जय संतोषी माँ, कस्तूरी, कशमकश, अधिकार जैसे कई टी. वी. सिरिअल्स में काम किया। डी.डी -1 पर आने वाले धारावाहिक 'कसक' में, कलर्स पर आने वाले सीरियल 'मेरे घर आई एक नन्हीं परी' और ईटीवी-उर्दू पर आने वाले धारावाहिक 'सवेरा' में भी अभिनय कर रही हैं। इतनी सफलता के बाद भी हया मानती हैं कि इनकी रूह को शायरी से ही सुकून मिला। इनका बचपन जयपुर में गुज़रा।

पुरस्कृत ग़ज़ल

हुकूक अपने समझना मेरी आदत मेरी फितरत है
ये आदत तो ज़माने की निगाहों में बगावत है
ज़रा ज़हरे-सदाक़त पी के देखो तुम भी नक्कादों
यहाँ सुकरात बनना इक सजा है इक हिमाकत है
अकेले दम मैं ये तजवीज़ उनकी मुस्तरद कर दूं
जो ये कहते हैं औरत को पनाहों की ज़रूरत है
दरो-दीवार भी हस्सास हों घर हो तो ऐसा हो
फ़क़त बेजान से कमरों की मुझको क्या ज़रूरत है
मैं सहराओं में इतने अश्क ज़ाया करके आई हूँ
मेरी आँखों को अब बहते हुए पानी से नफ़रत है
हुनर तो भीख मांगे है पहन कर मल्गज़े कपड़े
यहाँ जो बेहुनर बेइल्म हैं उनकी सियासत है
मैं उस तकरीब में शामिल नहीं होती जो बेजा हो
जहाँ तहज़ीब फैशन है ताल्लुक इक तिजारत है
हया हुर्मत भी है, इस्मत भी है, गैरत भी, ज़ीनत भी
यही उसकी हिकायत है, यही उसकी हक़ीक़त है

शब्दार्थ-
हुकूक -हक, ज़हरे-सदाक़त- सच का ज़हर, तजवीज़ -प्रस्ताव, हस्सास- संवेदनशील
मल्गज़े- मैले कुचैले, तकरीब- उत्सव, तिजारत- व्यापार, नक्काद- आलोचक, मुस्तरद- रद्द


पुरस्कार- रामदास अकेला की ओर से इनके ही कविता-संग्रह 'आईने बोलते हैं' की एक प्रति।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

19 कविताप्रेमियों का कहना है :

विनोद कुमार पांडेय का कहना है कि -

हुकूक अपने समझना मेरी आदत मेरी फितरत है
ये आदत तो ज़माने की निगाहों में बगावत है
ज़रा ज़हरे-सदाक़त पी के देखो तुम भी नक्कादों
यहाँ सुकरात बनना इक सजा है इक हिमाकत है

urdu ke behtareen shabdon ko khubsurat bhavnaon me piro kar rachi gai kavita ...bahut badhiya gazal...shukriya lata ji...aur badhayi bhi

राकेश कौशिक का कहना है कि -

औरत को कमजोर समझाने वालो - सावधान!

वाह वाह लता जी अपनी ग़ज़ल से रूबरू कराने और प्रेरक सन्देश के लिए तहे दिल से शुक्रिया.

हिंदी युग्म के लिए -
लता जी की गजल पढ़ने का मौका आज मैं पाया
हिंदी युग्म यह करता रहे मेरी इबादत है

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ का कहना है कि -

बहुत ही सुंदर गजल है।
बधाई।
------------------
सिर पर मंडराता अंतरिक्ष युद्ध का खतरा।
परी कथाओं जैसा है इंटरनेट का यह सफर।

श्याम सखा 'श्याम' का कहना है कि -

मैं उस तकरीब में शामिल नहीं होती जो बेजा हो
जहाँ तहज़ीब फैशन है ताल्लुक इक तिजारत है
अच्छे तेवर हैं

मनोज कुमार का कहना है कि -

दरो-दीवार भी हस्सास हों घर हो तो ऐसा हो
फ़क़त बेजान से कमरों की मुझको क्या ज़रूरत है
इस ग़ज़ल की जितनी भी तारीफ़ की जाए कम है।

Priya का कहना है कि -

अकेले दम मैं ये तजवीज़ उनकी मुस्तरद कर दूं
जो ये कहते हैं औरत को पनाहों की ज़रूरत है

kamaal hai......Lata ji sirf achchi shayra hi nahi...ek behad acchi insaan bhi....ishwar unhe prasanna rakhe

Devendra का कहना है कि -

लता जी को हिंदयुग्म में पढ़ना अच्छा लगा।
गज़ल के हर शेर बड़े जोश में हैं।

Apoorv का कहना है कि -

बहुत लम्बे वक्त मे ऐसी मुकम्मल ग़ज़ल पढ़ने को मिलती हैं कहीं..

ज़रा ज़हरे-सदाक़त पी के देखो तुम भी नक्कादों
यहाँ सुकरात बनना इक सजा है इक हिमाकत है

..गज़ब कहा!!!

नीरज गोस्वामी का कहना है कि -

जिस ग़ज़ल में एक एक शेर हीरे सी चमक लिए जड़ा हुआ हो वो नायाब तो होगी ही...किसी एक शेर की तारीफ़ करना दूसरे के साथ ना-इंसाफी होगी...एक बेहतरीन ग़ज़ल जो बरसों बरस ज़ेहन पर छाई रहेगी...वाह...जिंदाबाद लता जी वाह...
नीरज

manu का कहना है कि -

बेहद ख़ूबसूरत गजल...

टीवी सीरियल्स तो कभी हम देखते नहीं...
लेकिन गजल कहने का अंदाज बहुत पसंद आया...

Anonymous का कहना है कि -

haya ji bahut bahut mubarak ho badhi hi khubsurat ghazal kahi hai aapne!
-Sabir "Ghayal" Datia
-sabirghayal.blogspot.com
-sabir.ghayal@rediffmail.com

Sabir Ghayal का कहना है कि -

haya ji bahut bahut mubarak ho badhi hi khubsurat ghazal kahi hai aapne! sabirghayal

Safarchand का कहना है कि -

wah wah...bahut acha...marhaba....
I personaly salute you....keep on writing

raybanoutlet001 का कहना है कि -

nike roshe run
michael kors handbags
adidas nmd runner
fitflops clearance
nike roshe one
nfl jerseys wholesale
retro jordans
air max thea
mlb jerseys
kobe bryant shoes
tiffany and co jewellery
tiffany jewellery
cheap air jordan
fitflops sale
chrome hearts
air jordan retro
nike dunks
true religion jeans
tiffany and co jewelry
yeezy boost 350
cheap air jordans
christian louboutin outlet
links of london sale
discount oakley sunglasses
tiffany and co
coach outlet online
air jordan
adidas nmd
nike air zoom
kobe bryant shoes
http://www.cheapbasketballshoes.us.com
air jordan retro

Unknown का कहना है कि -

browns jerseys time.
indianapolis colts jerseys my
oakland raiders jerseys not
supra shoes or
polo ralph lauren with
under armour outlet to
ecco shoes outlet blog.
tennessee titans jersey Super
michael kors handbags out!While
nike tn pas cher it

raybanoutlet001 का कहना है कि -

raiders jerseys
pandora jewelry
ed hardy uk
mont blanc pens
nhl jerseys
hermes belts
ray ban sunglasses
abercrombie and fitch kids
ralph lauren outlet
los angeles clippers jerseys

raybanoutlet001 का कहना है कि -

michael kors handbags clearance
nike blazer pas cher
michael kors handbags
patriots jerseys
yeezy boost 350 black
michael kors outlet store
red valentino
adidas nmd r1
longchamp bags
nike air huarache

alice asd का कहना है कि -

montblanc pens
jordan shoes
replica watches
cheap snapbacks
tennessee titans jersey
michael kors handbags
coach outlet
adidas nmd
adidas nmd
coach outlet
20170429alice0589

1111141414 का कहना है कि -

michael jordan shoes
kobe 11
yeezy boost
true religion outlet
yeezy boost
nike dunks
air max 90
basketball shoes
lacoste online shop
michael kors outlet store

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)