फटाफट (25 नई पोस्ट):

Wednesday, June 17, 2009

कमरे में कितने मच्छर, कहाँ आदमी तन्हा है


स्वप्निल कुमार "आतिश" इन दिनों दिल्ली में हैं, लेकिन पैदाइश गाजीपुर(उत्तर प्रदेश)की है। B.Sc biotechnology की पढ़ाई कर चुके स्वप्निल के परिवार में इस तरह का माहौल रहा कि शायरी और साहित्य से रिश्ता बन गया। बचपन से लिखते रहे हैं। स्थानीय पत्र-पत्रिकाओं में कुछ ग़ज़लें/ नज्में प्रकाशित हो चुकी हैं और हिंद युग्म पे पहली बार प्रकाशित हो रहे हैं।

कविता

ये सहरे का सपना है
देखो कितना गीला है

मुझसे मिलता-जुलता है
सन्नाटे का चेहरा है

नन्ही आँख की डिबिया में
ख्वाब हींग सा महक़ा है

अपने घर के कोने में
गीली आँखें रखता है

मुझको दुनिया रास कहाँ
मकड़ी का घर कोना है

पूरी शब आकाश पढ़ो
सबका कच्चा चिट्ठा है

कमरे में कितने मच्छर
कहाँ आदमी तन्हा है

आइने की खिड़की पे
चेहरा दस्तक देता है

चाँद के रौशन माथे पर
लगा दीए का टीका है

शोहरत की आवाज़ सुने
इंसा कितना बहरा है

आँच लगी तो पता चला
आतिश सच्चा सोना है


प्रथम चरण मिला स्थान- चौथा


द्वितीय चरण मिला स्थान- ग्यारहवाँ

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

24 कविताप्रेमियों का कहना है :

Nirmla Kapila का कहना है कि -

नन्ही आँख की डिबिया में
ख्वाब हींग सा महक़ा है

बहुत सुन्दर कवित है बधाई
कमरे मे कितने मच्छर
कहाँ आदमी तन्हा है
हा हा हा सच कहा है

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

मुझे तो बहुत भाई ये रचना....लिखते रहें भाई

Ambarish Srivastava का कहना है कि -

अच्छी रचना!

शोहरत की आवाज़ सुने
इंसा कितना बहरा है

क्या बात है ?
लिखते रहें!

mohammad ahsan का कहना है कि -

it deserved much higher rank than eleventh.
ahsan

sangeeta का कहना है कि -

swapnil,

bahut sundar rachna..maza aaya padh kar

badhai

Shamikh Faraz का कहना है कि -

मुझसे मिलता-जुलता है
सन्नाटे का चेहरा है
नन्ही आँख की डिबिया में
ख्वाब हींग सा महक़ा है

आतिश साहब मुबारक हो.

आलोक सिंह "साहिल" का कहना है कि -

so sweet.....
ALOK SINGH "SAHIL"

M.A.Sharma "सेहर" का कहना है कि -

कमरे में कितने मच्छर
कहाँ आदमी तन्हा है :))

शोहरत की आवाज़ सुने
इंसा कितना बहरा है

उन्मुक्त भाव !!

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

aap sab ka tah-e-dil se shukriya ...
aap logon ka sath pana achha laga .....

rachana का कहना है कि -

आप ने छोटी छोटी बात को बहुत ही खूबी से कहा है आँख की डिबिया और हिंग की महक बहुत नया लगा .मच्छर की बात को देश याद आगया हाँ मच्छर की गुनगुनाहट अन्नाते तो तोड़ती थी आप को बधाई बहुत खूब लिखा है
रचना

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

rachna ji aap ne rachna ki khubiyon ko dekha .... achha laga

tah e dl se shukriya aap ka

Shefali Pande का कहना है कि -

jabardast.....

Shefali Pande का कहना है कि -

jabardast.....

neelam का कहना है कि -

bhaai kya bala hai ye ,

नन्ही आँख की डिबिया में
ख्वाब हींग सा महक़ा है

heeng ki tarah khwaab ki baat hajam hi nahi ho rahi hai ,waise heeng haajme ko durust rakhti hai
hhahahahahahaahahahahahahahhaah

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

shefali ji .....aap ko yahan dekh kar achha laga.....

shukriya aap ka ......

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

neelam ji ...shayd ise bala nahi "rupak " aur "upma " kahte hain ..

dibiya ko aankh ke roopak ke taur pe istemal kiya hai ..aur heeng ki upma khab ko di hai ..

jaise ek chhoti si bibiya me band heeng dibiya ke khulte hi apni khushbu charo taraf faila deti hai ..

waise raat ko dekha gaya khushnuma khab subah aankh khulte hi mann ko khushbu se bhar deta hai ..

ummid hai ab aap ko she'r samjh aaya hoga ..

baki bhagwaan aapka hazama durust kare .aisi naram cheezen bhi aap se hajam nahi hueen to ...

hehehehehe

Ravi Shankar का कहना है कि -

नन्ही आँख की डिबिया में
ख्वाब हींग सा महक़ा है

शोहरत की आवाज़ सुने
इंसा कितना बहरा है

bahut khoob Aatish bhai.......

zor-e-kalam parwaaz paaye...

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

thankuu sooo musch raviiiiii :)

anjali का कहना है कि -

Atish,
ek lajawab aur behad kamal ki rachana he...badhai aur bhavishya ke liye shubhkamnaye.

Manju Gupta का कहना है कि -

Upmeya upmano ka paryog sartak hai.
Badahayi.

vandana का कहना है कि -

yeh to mujhe bahuta cchi lagi
badhai ho badhai

स्वप्निल कुमार 'आतिश' का कहना है कि -

anjali , manju ji , vandana ji ...

aap sbaka tah e dil se shukriya hai ji ........

sada का कहना है कि -

आइने की खिड़की पे
चेहरा दस्तक देता है ।

बहुत ही सुन्‍दर रचना ।

Sarala Pandey "Aseem" का कहना है कि -

sundar!!

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)