फटाफट (25 नई पोस्ट):

Saturday, April 05, 2008

डैलास, अमेरिका के रेडियो सलाम नमस्ते पर निखिल अपनी आवाज़ का ज़ादू बिखेरेंगे


अभी पिछले रविवार की ही बात है कि हिन्द-युग्म के युवा कवि निखिल आनंद गिरि ने AIR FM Rainbow (102.6 FM) पर अपनी आवाज़ का ज़ादू बिखेरा, और उन्हें इस रविवार का न्यौता आ गया। विश्व पुस्तक मेला 2008 में प्रसिद्ध हास्य कवि अभिनव शुक्ला ने रेडियो सलाम नमस्ते (डैलास, अमेरिका का 24X7 चलने वाला हिन्दी FM रेडियो स्टेशन) से हिन्द-युग्म के कई साथियों का साक्षात्कार लिया था और उनसे काव्य-पाठ भी करवाया था। उन्होंने हिन्द-युग्म के संयोजक शैलेश भारतवासी से तो बकायदा हिन्द-युग्म की कहानी जानी थी। रेडियो सलाम नमस्ते हिन्दी गीत-संगीत के अतिरिक्त हिंदी कविता पर विशेष कार्यक्रम "कवितांजलि" प्रस्तुत करता है जिसका संचालन आदित्य प्रकाश करते हैं। स्थानीय समयानुसार रात्रि 9 बजे से 10 बजे तक प्रसारित होने वाले इस कार्यक्रम में भारत के नामचीन मंचीय कवियों यथा कुमार विश्वास, सुनील जोगी, राजेश चेतन, ओम व्यास, पवन दीक्षित, मनोज कुमार मनोज, दीपक गुप्ता, अर्जुन सिसोदिया, मनीषा कुलश्रेष्ठ, डाँ कविता वाचकनवी, दिनेश रघुवंशी आदि ने शिरकत की है, वहीं प्रवासी कवियों में अंजना संधीर, लावण्या शाह (लावण्याजी जाने माने गीतकार स्वर्गीय पं. नरेंद्र शर्मा की पुत्री है), इला प्रसाद, अभिनव शुक्ल, रेखा मैत्र, प्रियदर्शिनी, कुसुम सिन्हा, देवेन्द्र सिंह, अर्चना पांडा, रेणुका भटनागर, सुधा धिंगरा, हरिशंकर आदेश, डाँ ज्ञान प्रकाश, शशि पाधा, कल्पना सिंह चिटनिस भागीदार रहे हैं। अधिक जानकारी

अभिनव शुक्ला द्वारा लिये गये साक्षात्कार को रेडियो सलाम नमस्ते के श्रोताओं ने सुना। आदित्य प्रकाश निखिल आनंद गिरि की आवाज़ से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने 'कवितांजलि' का न्यौता दे दिया। हिन्द-युग्म का एक उद्देश्य मंचों तक असली साहित्य पहुँचाना भी है। और हिन्द-युग्म यह मानता है कि निखिल उसी असल साहित्य के युवा प्रतिनिधि हैं। तो इस रविवार यानी 6 अप्रैल 2008 की रात्रि 9 बजे से 10 बजे तक (अमेरिका के श्रोताओं के लिए) और इस सोमवार यानी 7 अप्रैल 2008 की सुबह 7:30 से 8:30 (भारत के श्रोताओं के लिए) हिन्द-युग्म, निखिल आनंद गिरि और रेडियो सलाम नमस्ते का साथ रहेगा। आप भी सुनें और निखिल आनंद गिरि की आवाज़ का ज़ादू देखें। जल्द ही हिन्द-युग्म अन्य कवि रेडियो सलाम नमस्ते से सुनाई देंगे।

यह कार्यक्रम रेडियो सलाम नमस्ते की वेबसाइट http://www.radiosalaamnamaste.com/ पर सुना जा सकता है। डैलास, अमेरिका में FM रेडियों सेटों से यह कार्यक्रम 104.9 FM पर ट्यून किया जा सकता है।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 कविताप्रेमियों का कहना है :

anuradha srivastav का कहना है कि -

ये तो बहुत ही अच्छी खबर सुनायी है।निखिल के लिये ढेर सारी शुभकामना और युग्म के उज्जवल भविष्य की कामना।

तपन शर्मा का कहना है कि -

वाह वाह!!! शुभकामनायें।
यदि अमरीका के पाठक हम तक वहाँ की प्रतिक्रिया पहुँचा सकें तो अच्छा लगेगा।

सजीव सारथी का कहना है कि -

भूपेन जी नेपाल पहुंचे और अब तुम्हारी आवाज़ अमेरिका मे अपना जादू बिखेरेगी, ये हिंद युग्म का बढता हुआ वर्चस्व ही तो है, ढेरों शुभकामनाएं...निखिल, इसी तरह कमियाबियों की नई बुलंदियों को छुते चलो

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

बहुत बहुत हर्ष की बात है |
Its a long leap for us !!!

शुभकामनाओं सहित ,

अवनीश तिवारी

seema sachdeva का कहना है कि -

bahut-bahut badhaai ikhil ji

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)