फटाफट (25 नई पोस्ट):

Tuesday, March 22, 2011

क्रांति का सूर्य



जनवरी की सातवीं कविता अनिता निहलानी की है। अनिता की यह हिंद-युग्म पर प्रथम कविता है। उत्तर प्रदेश मे पली बढ़ी अनिता पिछले दो दशकों से असम मे निवास कर रही हैं। इन्होने गणित मे स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की है। कविताओं की तीन पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं और पिछले कुछ समय से इंटरनेट पर लिखने मे सक्रियता भी बढ़ी है।

पुरस्कृत कविता: क्रांति का सूर्य


मैं विद्रोहिणी हूँ  !
जो समाज के ढके छिपे व्यापारों को उजागर करना चाहती है
जिससे वह जी सकें, जो मौत की राह देख रहे हैं
मैं संस्कृति और सभ्यता के नाम पर ओढ़ी मानसिकता नहीं हूँ
बल्कि उन्हें कुरीतियाँ और अन्धविश्वास कहने का दुस्साहस !

मैं एक आवाज हूँ !
मानवता के (अमानवीय) ठेकेदारों के बंद कानों के लिये
एक आवाज कारखानों की, खदानों की, हलों-बैलों की
पत्थर तोड़ते मजदूरों की !

मैं मृत्यु हूँ !
तानाशाही दम्भ की, निर्दोषों के खून से सने हाथों की
मैंने सुखद और दुखद क्षण जिए हैं
एक गीत के जन्म और मृत्यु पर
ऐसी मृत्यु जो हजारों का जीवन है !

मेरे जीवित अस्तित्त्व का कोई प्रमाण हो न हो
पर मैं अमर हूँ,
घुमती हूँ बेरोकटोक
मृत्युदन्शी सन्नाटों में
जंगलों के बियाबानों में
क्योंकि मैं एक विश्वास हूँ,
लोलुप शासन के अंत होने का
मेहनतकश वर्ग के फलने फूलने का
जो स्पष्टीकरण चाहता है उनसे
जो सदा से उसके दावेदार रहे हैं
क्योंकि तभी एक नए सूर्य का उदय होगा
क्रांति का सूर्य !



आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 कविताप्रेमियों का कहना है :

प्रवीण पाण्डेय का कहना है कि -

कविता प्रभावित कर गयी। आपके लेखन से ब्लॉग जगत को नयापन मिलेगा। आभार।

‘सज्जन’ धर्मेन्द्र का कहना है कि -

सुंदर रचना के लिए बधाई स्वीकार करें।

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " का कहना है कि -

"क्योंकि मैं एक विश्वास हूँ

लोलुप शासन के अंत होने का

मेहनत कश वर्ग के फलने फूलने का "

****************************

जमीन से जुडी....... क्रन्तिकारी विचारों की अच्छी अभिव्यक्ति|.

Unknown का कहना है कि -

..उद्देश्यपूर्ण एक सुंदर कविता!...अभिनंदन!

Unknown का कहना है कि -

nike free 5 Five
adidas nmd r1 Then,
jordan shoes buy
arizona cardinals jerseys back
true religion jeans sale could
gucci sito ufficiale on
adidas nmd myself
michael kors handbags and
nike air huarache post
ghd hair straighteners out

Dora Shaw का कहना है कि -

This is the right blog for anyone who wants to find out about this topic. You realize so much its almost hard to argue with you (not that I actually would want…HaHa). You definitely put a new spin on a topic thats been written about for years. Great stuff, just great!

Information
Click Here
Visit Web

MiltonBaker का कहना है कि -

You made some decent points there. I looked on the internet for the issue and found most individuals will go along with with your website.

Vingle.net
Information
Click Here

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)