फटाफट (25 नई पोस्ट):

Thursday, June 12, 2008

12 जून की ब्लॉग यायावरी हिन्द-युग्म के नाम


इंदौर से प्रकाशित 12 जून 2008 के हिन्दी दैनिक समाचार पत्र दैनिक भास्कर के साप्ताहिक स्तम्भ ब्लॉग यायावरी में हिन्द-युग्म की चर्चा हुई है। जिसमें संतोष गौड़ राष्ट्रप्रेमी की पिता विशेषांक में छपी कविता 'काश!' के कुछ अंश, गौरव सोलंकी की माँ पर लिखी गईं दो क्षणिकाएँ और एक कविता महेन्द्र सिंह पुनिया की प्रकाशित हुई है जो असल में हिन्द-युग्म के संग्रहालय की उपज नहीं है। स्तम्भकार रविकांत ओझा को यह कवरेज़ देने के लिए धन्यवाद।

(बड़े अक्षरों में पढ़ने के लिए चित्र पर क्लिक करें)




अन्य चर्चाएँ---

मिलाप राजभाषा में विस्तृत कवरेज़

गर्भनाल, मीडिया-स्कैन और समाज-विकास में हिन्द-युग्म

अमर उजाला और द नेशनल फैक्ट में

हिन्द-युग्म 'दि संडे पोस्ट में'

दैनिक भास्कर में

राष्ट्रीय सहारा, अमर उजाला और इकोनॉमिक्स टाइम्स में 'हिन्द-युग्म'


आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 कविताप्रेमियों का कहना है :

sahil का कहना है कि -

anywaad ravikant ji,
alok singh "sahil"

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

दैनिक भास्कर व ओझा जी का अति-आभार..

प्रसन्नता हुई युग्म को ब्लॉग यायावरी में देखकर

Seema Sachdev का कहना है कि -

हिन्दयुग्म को बहुत बहुत बधाई और रविकांत ओझा और दैनिक भास्कर का हार्दिक धन्यवाद

pooja anil का कहना है कि -

हिंद युग्म को बधाई .

रविकांत ओझा जी और दैनिक भास्कर का धन्यवाद .

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)