फटाफट (25 नई पोस्ट):

Saturday, January 23, 2010

19वाँ विश्व पुस्तक मेला में बने हिन्द-यु्ग्म का स्वयंसेवक और करें हिन्दीसेवा


हमें यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि हिन्द-युग्म 19वाँ विश्व पुस्तक मेला (जोकि 30 जनवरी 2010 से 7 फरवरी 2010 के दौरान दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित होगा) में इंटरनेट जगत का प्रतिनिधित्व करने के लिए अपना स्टॉल लगा रहा है। 9 दिवसीय मेले में हिन्द-युग्म कई तरह के कार्यक्रम करने की योजना बना चुका है। उल्लेखनीय है कि 18वें विश्व पुस्तक मेला, 2-10 फरवरी 2008 (प्रगति मैदान, नई दिल्ली) में हिन्द-युग्म इंटरनेट जगत का प्रतिनिधित्व कर चुका है। पिछले विश्व पुस्तक मेला में हिन्द-युग्म ने 'पहला सुर' नाम से कविताओं और संगीतबद्ध गीतों का एक एल्बम जारी कर चुका है।

इस बार हिन्द-युग्म इंटरनेट की दुनिया में हिन्दी के बढ़ते वर्चस्व का बड़े पैमाने पर प्रचार-प्रसार करना चाहता है। इसके लिए हिन्द-युग्म को बड़े पैमान में कार्यकर्ताओं (स्वयंसेवकों) की आवश्कता है। इच्छुक हिन्दीप्रेमी hindyugm@gmail.com पर संपर्क करें।

स्वयंसेवकों को निम्नलिखित में से कोई एक या एक से अधिक काम सौंपे जायेंगे-

1) मेला में घूम-घूमकर 'इंटरनेट पर हिन्दी है' इसका प्रचार करना। यदि लोग हिन्दी टाइपिंग सीखने और ब्लॉग बनाने के इच्छुक हैं तो उन्हें इसके बारे जानकारी देना (कि कैसे हिन्द-युग्म और अन्य मददगार वेबसाइटों/ब्लॉगों को खोलकर वे इनके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं)।
2) हिन्द-युग्म की दैनिक गतिविधियों की हिन्दी और अंग्रेजी में रिपोर्ट बनाना।
3) हिन्द-युग्म की दैनिक गतिविधियों को कैमरे कैद करना। (स्टील और वीडियो)
4) हिन्द-युग्म के स्टॉल पर आने वाले आगंतुकों को स्टॉल पर उपलब्ध सभी पुस्तकों, एल्बमों और इंटरनेट पर हिन्द-युग्म की गतिविधियों के बारे में विस्तार से/संक्षेप में बताना।
5) हिन्द-युग्म के स्टॉल पर आये साहित्य, संस्कृति, कला, मीडिया आदि की मशहूर तथा महत्वपूर्ण हस्तियों से बातचीत करना और उनकी बातचीत रिकॉर्ड करके साक्षात्कार का रूप देना।
6) और भी बहुत कुछ जो आप करना चाहें-

विवरण-

हॉल नं॰ 12A, स्टॉल नं॰ 285

30 जनवरी 2010 से 7 फरवरी 2010

समय- रोज सुबह 11 बजे से रात्रि 8 बजे तक

सांस्कृतिक कार्यक्रम तीन दिन (31 जनवरी को, 1 फरवरी को और 6 फरवरी को दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक आयोजित होंगे)


अधिक जानकारी के लिए hindyugm@gmail.com पर ईमेल करें।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

8 कविताप्रेमियों का कहना है :

Arvind Mishra का कहना है कि -

बहुत बहुत शुभकामनायें !काश हम उन दिनों में उपलब्ध रहते और दिल्ली प्रवास संभव हो पाता !

अनुनाद सिंह का कहना है कि -

हिन्द-युग्म को इस महान हिन्दीसेवी पहल के लिये बधाई।

विनोद कुमार पांडेय का कहना है कि -

हिन्दयुग्म को एक सराहनीय कदम के लिए बहुत बहुत बधाई...शुभकामनाएँ!!

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन का कहना है कि -

बहुत सराहनीय प्रयास है. शुभकामनाएं!

Anonymous का कहना है कि -

हिंदी के प्रचार प्रसार में बहुत बड़ा योगदान एवं एक अच्छा प्रयास है ,
धन्यवाद
विमल कुमार हेडा

sumita का कहना है कि -

hindi ke vyapak prachar ke liye hindyugm ke yah seva kabile tareef hai.hindyugm ko bahut-bahut badhayee.

प्रकाश ⎝⎝पंकज⎠⎠ का कहना है कि -

इस प्रयास के लिए हार्दिक शुभकामनाएं ....
धन्यबाद.

kavilok का कहना है कि -

(Please convert in Font Krutidev 011)
bl ns’k dh Lora=rk o vku gS fgUnhA
HkkokfHkO;fDr ds fy;s& ojnku gS fgUnhA
Tks pkgs le>&cksy ys] vklku gS fgUnh]
Lkp iwfN;s rks fgUn dh igpku gS fgUnhA

fgUnh dks fo’oO;kih djus
ds iz;kl dks ueu!

‘kqHkdkeukvksa lfgr]
jkts’k jkt]
lfpo]dfoyksd
9718384464

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)