फटाफट (25 नई पोस्ट):

Sunday, September 20, 2009

तुम्हें हो ईद मुबारक


~~ हिंदयुग्म के तमाम दोस्तों को ईद की मुबारकबाद एडवांस में ~~

हमारे बचपन का एक दोस्त दुबई में रहता है। दुबई में ईद हमारे देश से एक दिन पहले ही मना ली जायगी। हम सोच रहे थे कि जिस दिन वहां ईद होगी... यहां रोज़ा होगा। ऐसे में ईद की मुबारकबाद हम उसे कैसे देंगे। बस इसी सोच के मद्देनज़र कुछ अशआर क़लमबंद होते चले गये। वैसे तो ये निजी सोच ने रचा है लेकिन अब ये ख़याल आ रहा है कि न जाने कितने पाठकों के ऐसे दोस्त होंगे जो वक़्त के इस अंतराल के हिस्सेदार होंगे। लीजिये फिर आप भी इसका लुत्फ़ उठाइये...

तुम्हें हो ईद मुबारक, हमारा रोज़ा है
सिवय्यां खाओ छका-छक, हमारा रोज़ा है

तुम अपने हाथों से तोड़ोगे बंदिशें अपनी
हमारी ऐसी कहां लक, हमारा रोज़ा है

तुम्हारे पास हैं आंखें, नहीं है ताक़ते दीद
हमारे पास है ऐनक, हमारा रोज़ा है

महीने भर से बड़ा इंतेज़ार था तुमको
करेंगे हम न कोई शक, हमारा रोज़ा है

दुआ है तुमको इलाही अता करे रोज़ी
और हमको थोड़ी सी ठंडक, हमारा रोज़ा है

ख़याल में ही सही साथ हूं तुम्हारे मगर
चलूंगा साथ कहां तक, हमारा रोज़ा है

ताक़ते-दीद– देखने की शक्ति

कवि- नाज़िम नक़वी

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

13 कविताप्रेमियों का कहना है :

Devendra का कहना है कि -

तुम्हारे पास हैं आँखें, नहीं है ताक़ते दीद
हमारे पास है ऐनक, हमारा रोजा है।
--वाह क्या शेर है।
-ईद की ढेर सारी बधाई।
-देवेन्द्र पाण्डेय।

M VERMA का कहना है कि -

ईद मुबारक
भाई हमारा तो रोज़ा है

वाणी गीत का कहना है कि -

ईद मुबारक ..!!

Sumita का कहना है कि -

आपका रोजा है..तो हमने भी सोचा है...यही तो बातचीत का अच्छा मौका है! ईद मुबारक !
बहुत सुंदर कविता..बधाई।

Devendra का कहना है कि -

नाज़िम भाई- यह तो हमारे ऊपर भी बड़ा सटीक बैठता है--
तुम्हें हो ईद मुबारक, सेवय्याँ खाओ चकाचक
इधर नवरात्रि का व्रत, हमारा रोजा है।
--देवेन्द्र पाण्डेय।

Shamikh Faraz का कहना है कि -

तुम्हें हो ईद मुबारक, हमारा रोज़ा है
सिवय्यां खाओ छका-छक, हमारा रोज़ा है

नाजिम नकवी के साथ सभी को ईद मुबारक.

Manju Gupta का कहना है कि -

आप को ईद और नवरात्रि की ,बहुत सुंदर कविता..बधाई।

काशिफ़ आरिफ़/Kashif Arif का कहना है कि -

आप सब को ईद मुबारक क्यौंकि चांद हो चुका है....इसलिये हमारा तो रोज़ा नही है...!!!

neelam का कहना है कि -

नाज़िम जी ,
कविता तो कल ही पढ़ी थी ,पर हमने सोचा आपको ईद मुबारक आज ही देंगे ,आपके पूरे परिवार को ईद की शुभकामनाएं ,
पर हमारी सिवैंया कहाँ हैं???????? शामिखजी ,अहसन भाई सभी को ईद मुबारक हो

विश्व दीपक ’तन्हा’ का कहना है कि -

नाज़िम भाई,
ईद की हार्दिक शुभकामनाएँ।

गज़ल भी क्या खूब रही। बधाई स्वीकारें।

-विश्व दीपक

SUNIL DOGRA जालि‍म का कहना है कि -

आपको भी मुबारकबाद

raybanoutlet001 का कहना है कि -

nike roshe run
basketball shoes
cheap michael kors handbags
fitflops shoes
ray ban sunglasses
michael kors uk
michael kors handbags
michael kors handbags
louis vuitton pas cher
nike huarache

raybanoutlet001 का कहना है कि -

abercrombie and fitch
jimmy choo shoes
converse trainers
fitflops sale clearance
nike trainers
ghd hair straighteners
versace shoes
san antonio spurs jerseys
instyler max 2
under armour shoes

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)