फटाफट (25 नई पोस्ट):

Wednesday, September 09, 2009

प्रस्तर मन


मानव मन बना है प्रस्तर .

मानव क्या लेकर जाएगा,
मिटटी में खुद मिल जाएगा,

इस जग में फिर कैसे कैसे, ढ़ो रहा आडंबर .
मानव मन बना है प्रस्तर .

पैसा पापों का मूल बना,
हर रिश्ता लगता शूल बना,

अपने हाथ अपनों को मार, नाच रहा दिगंबर .
मानव मन बना है प्रस्तर .

छल, कपट, झूठ पहचान बनी,
सच बात लगे अब झूठ सनी,

लहू पीने को बेताब है, ले हाथ में खंजर .
मानव मन बना है प्रस्तर .

कवि कुलवंत सिंह

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

15 कविताप्रेमियों का कहना है :

विनोद कुमार पांडेय का कहना है कि -

मानव क्या लेकर जाएगा,
मिटटी में खुद मिल जाएगा,

Sachcha Bhav..Sachchi Kavita..
badhayi..

अभिनव का कहना है कि -

वाह.

Nirmla Kapila का कहना है कि -

मानव क्या लेकर जाएगा,
मिटटी में खुद मिल जाएगा,
बहुत सुन्दर रचना है बधाई

संगीता पुरी का कहना है कि -

सही लिखा है .. सुदर अभिव्‍यक्ति !!

ओम आर्य का कहना है कि -

bahut hi sundar rachana

keshav का कहना है कि -

sundar rachna.sampadak ji mai gaurav solanki ji ki sari kavitayen padhna chahta hoon,kripya link deejiye

keshav का कहना है कि -

sundar rachna.sampadak ji mai gaurav solanki ji ki sari kavitayen padhna chahta hoon,kripya link deejiye

Manju Gupta का कहना है कि -

मानव के स्वार्थ की भावभूमि पर लिखी कविता जीवन के अंतिम सच को दर्शाती है .
बल्ले बल्ले

Shamikh Faraz का कहना है कि -

kya koi bata sakta hai k yunikavi pratiyogita k parinam kab ghoshit honge.

Shamikh Faraz का कहना है कि -

kya koi bata sakta hai k yunikavi pratiyogita k parinam kab ghoshit honge.

Anonymous का कहना है कि -

छल, कपट, झूठ पहचान बनी,
सच बात लगे अब झूठ सनी,
अच्छी रचना, बहुत बहुत बधाई, धन्याद
विमल कुमार हेडा

Shamikh Faraz का कहना है कि -

मानव मन बना है प्रस्तर .

मानव क्या लेकर जाएगा,
मिटटी में खुद मिल जाएगा,

इस बार तो मज़ा आ गया. जीवन के यथार्थ को खोल कर रख दिया.

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

सुन्दर गीत है |

बधाई |

अवनीश तिवारी

shiva dwivedi sahar का कहना है कि -

लहू पीने को बेताब है, ले हाथ में खंजर .
मानव मन बना है प्रस्तर

bahoot sarthak panktiyaan hain

SUNIL DOGRA जालि‍म का कहना है कि -

उम्दा गीत...

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)