फटाफट (25 नई पोस्ट):

Wednesday, June 10, 2009

गज़ल


गोद में रख सर मैं जिसकी सो रहा था
विष वही मेरे बदन में बो रहा था .

मैने अपना प्यार जिस रिश्ते को सौंपा
मार जिंदा अब मुझे वह ढ़ो रहा था .

वह बना हैवान जिस दौलत की खातिर
अब उसी दौलत में दब कर रो रहा था .

कब्र मेरी चुपके से उसने बनाई
मैं उसे अपना समझ कर सो रहा था .

मैने अपनी जां लड़ा जिसको बचाया
मेरा खूँ कर हाथ अब वह धो रहा था .

कवि कुलवंत सिंह

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

11 कविताप्रेमियों का कहना है :

Priya का कहना है कि -

कब्र मेरी चुपके से उसने बनाई
मैं उसे अपना समझ कर सो रहा था .

aisa hi hota hain.... kareebe hi dhokha deta hain... bahut sunder likha hain aapne

venus kesari का कहना है कि -

गोद में रख सर मैं जिसकी सो रहा था
विष वही मेरे बदन में बो रहा था

बढ़िया
वीनस केसरी

Manju Gupta का कहना है कि -

Balle Balle! Ghazal ke sher laajawab hai. Dard aur peedha ki teis se sarabor hai.
कब्र मेरी चुपके से उसने बनाई
मैं उसे अपना समझ कर सो रहा था .
Badhayi.

Manju Gupta.

Harihar का कहना है कि -

मैने अपना प्यार जिस रिश्ते को सौंपा
मार जिंदा अब मुझे वह ढ़ो रहा था .

वाह ! क्या बात है कुलवन्त जी

rachana का कहना है कि -

आप ने बहुत सुंदर लिखा है
गोद में रख सर मैं जिसकी सो रहा था
विष वही मेरे बदन में बो रहा था .
की कहने बिष बदन में बोना सुंदर लिख है
मैने अपनी जां लड़ा जिसको बचाया
मेरा खूँ कर हाथ अब वह धो रहा था .
बहुत कुछ सच्चाई बयां करती है ये पंक्तिया
सादर
रचना

रश्मि प्रभा... का कहना है कि -

गोद में रख सर मैं जिसकी सो रहा था
विष वही मेरे बदन में बो रहा था ...
क्या बात है......

Shamikh Faraz का कहना है कि -

कब्र मेरी चुपके से उसने बनाई
मैं उसे अपना समझ कर सो रहा था

बहुत अच्छी ग़ज़ल कही आपने कुलवंत जी. साथ ही हिंदी साहित्यमंच पर प्रथम आने के लिए बधाई.

mahashakti का कहना है कि -

गज़ल की ज्‍यादा परख नही है किन्‍तु वास्‍तव में बढि़या लिखा है।

manu का कहना है कि -

ये गजल है बहर में
अच्छा लिखा ,,
बधाई हो,,

mohammad ahsan का कहना है कि -

पिछली रचना की अपेक्षा अच्छी ग़ज़ल. बधाई

Ambarish Srivastava का कहना है कि -

एकदम सच है !

वह बना हैवान जिस दौलत की खातिर
अब उसी दौलत में दब कर रो रहा था .
बधाई |

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)