फटाफट (25 नई पोस्ट):

Wednesday, March 11, 2009

महानगर की होली


होली आई होली आई
मुन्ने की नजरें ललचाई
देख पिचकारी और गुलाल
पाया जा घर में धमाल
ले दो मुझको भी गुलाल
करूँगा रंगों से कमाल
माँ ने ला दी एक पिचकारी
पानी ही से भर दी सारी
साथ में दी दी चेतावनी
देखो वेस्ट न करना पानी
साठ रुपये का लीटर बीस
पानी के दाम से निकले चीस
कई बार तो मारे प्यास
पिलाएँ उसे जो आएँ खास
बाथ का पानी अलग मँगवाएँ
दस ही दिन में सम्ब भरवाएँ
एक माह में टैंकर तीन
बरतें पानी ज्यों कोई दीन
देखो जो तुम रंग डारोगे
खुद को और घर गंदा करोगे
रंगों में पानी डालोगे
फिर दीवाल को रंग डालोगे
नष्ट करोगे नहाकर पानी
बिगड़ेगी अपनी बजट कहानी
पेंट के पैसे भरने पडेंगे
मालिक के ताने भी मिलेंगे
दिखाओ तुम भी इमानदारी
पानी की एक ही पिचकारी
समझ लो तुम इसी को रंग
नहीं खेलना दोस्तों के संग
यह है महा-नगर मेरे लाल
उड़ते नहीं हैं यहां गुलाल
कौन कहां और किसकी होली
पैसे की यहां लगती बोली
तुम भी यह समझ जाओगे
रंग न फिर कोई लाओगे
नहीं किसी का कोई हमजोली
यह है महा-नगर की होली

आप इसे कविता/ अकविता , लेख/आलेख , कहानी कुछ भी कह सकते हैं| लेकिन मेरे लिए यह महा-नगरीय जीवन की कड़वी सच्चाई है |

-सीमा सचदेव



आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 कविताप्रेमियों का कहना है :

manu का कहना है कि -

कविता ,,अकविता,,,लेख,,,आलेख,,,,कुछ भी हो
पर अगर पानी की बर्बादी यूं ही रही तो आपकी ये कविता केवल महानगर तक ही सीमित न रह जायगी,,,,,हर आदमी की कविता बन जायेगी,,,,भगवान् करे वो दिन कभी ना आये,,,,आपकी सोच को सलाम,,,,,,,,,,,
जो आपने आज के दिन ये कविता पेश की है,,,,साल भर में शायद आज के ही दिन पानी की सबसे ज्यादा बर्बादी होती है,,,,,,
गुलाबी रंग के सूखे गुलाल के साथ आपको ,परिवार को,,,,,,,और पाठकों को होली की शुभकामनाये ,,,,
और सब से अपील भी ,,,,,,,के कविता में छिपे सन्देश पर ध्यान दे,,,,,

पानी बचाएं,,,,,,

"अर्श" का कहना है कि -

होली की आप सभी को ढ़ेर सारी शुभकामनाएं

आचार्य संजीव वर्मा 'सलिल' का कहना है कि -

होली का सन्देश है, मत हो कभी उदास.

गम में भी हँसकर 'सलिल' बाँट सभी को हास.

बाँट सभी को हास, उजास तिमिर हर हरता.

जो अभाव में हँसे न, वह बिन मारे ही मरता.

बिन पानी सब सून, 'सलिल' बिन नहीं जिन्दगी.

होली कहती निर्मल रह, है यही बंदगी.

संगीता पुरी का कहना है कि -

बहुत सुंदर ... होली की ढेरो शुभकामनाएं।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)