फटाफट (25 नई पोस्ट):

Thursday, October 23, 2008

कुछ दोहे


मोर पपिहा खेजडी, करता रहा तलाश ।
धीरे धीरे मिट गया, बादल एक आकाश।
.
टपटप टपके टापरा, पिया गये परडेर ।
बरखा से काली पडी, नजर कूप मुण्डेर।
.
पूरनमासी शरद की, अमी पयस बरसात ।
अंक यामिनी गुलमुहर, झुलसा सारी रात।
.
असली सूरत लापता, मुह खोटे अनगीन।
जैसा ओसर सामने, मुखडे पर धर लीन।
.
हेम रजत झंकार नित, गूंजे जाके कान।
गाली सी वाको लगे, आरती अरु अजान।
.
अंधियारा मावस भरा, रोशन बिन्दु प्रहार।
अभिकर्ता जुगनू हुए , चंदा करे व्यापार
,
विनय के जोशी



आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

14 कविताप्रेमियों का कहना है :

Anonymous का कहना है कि -

अटपटे शब्द हैं बस,अर्थ ढूँढते रहो ,या बनाते रहो

Arun Mittal का कहना है कि -

हेम रजत झंकार नित, गूंजे जाके कान।
गाली सी वाको लगे, आरती अरु अजान।

आरती अरु अजान में प्रवाह की कमी लगी भाव अच्छे हैं लेकिन शब्द चयन व्यावहारिक नहीं है लेकिन दोहा छंद का प्रयोग प्रासंगिक है

sahil का कहना है कि -

pahle ki rachnaaon ki tarah dhaar nahin lagi.
ALOK SINGH "SAHIL"

Seema Sachdev का कहना है कि -

भाव अच्छे है ,गहराई भी है ,वक्रोक्ति भी लगा | अगर साथ में कुछ शब्दों के अर्थ भी लिख दी होते तो समझाने वाले को आसान होता |

rachana का कहना है कि -

दोहे लिखने में मात्राओं का धयान रखना पड़ता है आसान नही होता पर आप ने बहुत अच्छा लिखा है
सादर
रचना

neeti sagar का कहना है कि -

joshi ji, mujhe aapke lagbhg sbhi doho k arth samjh aa gaye.sbhi achchhe hai par,..hem rajat jhnkar nit,gunje jaake kaan gaali si wako lage,aarti,aru.ajan...... bahut achchha laga

RC का कहना है कि -

Kuchh dohe bahut bahut pasand aaye. Abhi jaldi mein hoon, copy-paste ka waqt nahin.

Kuchh shabdon ke arth na samajhme aane ki shiqayat karne ha haq mujhe nahin hai shayad ..
:-)

RC

मनुज मेहता का कहना है कि -

टपटप टपके टापरा, पिया गये परडेर ।
बरखा से काली पडी, नजर कूप मुण्डेर।
.
पूरनमासी शरद की, अमी पयस बरसात ।
अंक यामिनी गुलमुहर, झुलसा सारी रात।
.
असली सूरत लापता, मुह खोटे अनगीन।
जैसा ओसर सामने, मुखडे पर धर लीन।

wah wah kya baat hai kabeer sahab.
wah

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

ठेठ बोली का प्रयोग आपके दोहों को बेहद प्रभावी बनाता है...मज़ा आया....कई गुमनाम होते शब्दों को भी आपने ज़िंदगी दे दी....

संजीव सलिल का कहना है कि -

आत्मीय विनत जी
वंदे मातरम.
दोहे देखे. प्रयास में कुछ कमी है. अन्यथा न लें तो सुधार कर सकेंगे.
दोहा १ - अन्तिम अर्धाली में ११ के स्थान पर १२ मात्रायें हैं.
दोहा २- बरखा से काली पडी, नज़र कूप मुंडेर. में अर्थ अस्पष्ट है. बरखा से वस्तु गीली होती है, काली नहीं.
दोहा ३- शरद पूर्णिमा की यामिनी की गोद में गुलमोहर झुलसा कैसे? शरद की चांदनी शीतल होती है, तप्त नहीं.
दोहा ४- दूसरे चरण में अनगीन ग़लत है. अनगिन अर्थात जिसकी गिनती न की जा सके.
दोहा ५- आरती अरु अजान में गण दोष है.'और' के स्थान पर 'अरु' का प्रयोग ग़लत है.
दोहा ६- 'चंदा करे व्यापार' में ११ के स्थान पर १२ मात्राएँ हैं. 'चाँद करे व्यापार' करने से दोष दूर होता है. अन्य दोष भी दूर किए जा सकते हैं. संपादक जी chhand की रचना को सुधार या सुधरवा कर छापें तो अधिक अच्छा हो.
आचार्य संजीव 'सलिल'
सलिल.संजीव@जीमेल.com

vinay k joshi का कहना है कि -

माननीय,
गहरे विश्लेषण हेतु आभार |
आप जैसे विद्वजनों के मार्गदर्शन से साहित्य पथिकों की यात्रा सहज होती है |
-दर्शाए गए बिन्दुओं हेतु प्रयासरत रहूँगा |
-लगातार वर्षा जल से उपजी काई से कोई भी मुंडेर काली पड़ जाती है |आंसुओ की बरखा से काजल फैल गया और आँखों के किनारे (नजर कूप मुंडेर ) काली हो गई |
-कवि के वियोगी भाव के प्रतिनिधि गुलमुहर के रक्त पुष्प पल्लव चाँदनी रात में अंगार से प्रतीत हुए.
व्याकरण तन है तो भाव आत्मा | आदर सहित विनम्र निवेदन है कि भाव संवेदन तनिक प्रखर किया जावे |
सादर,
विनय के जोशी

Coach Factory का कहना है कि -

louboutin, louis vuitton outlet online, louis vuitton handbags, prada handbags, nike air max, air max, coach outlet, michael kors, ralph lauren, air max, coach outlet store, burberry outlet online, true religion outlet, michael kors handbags clearance, louis vuitton, tiffany and co, michael kors, ray ban sunglasses, ray ban, michael kors outlet online, ray ban sunglasses, tory burch outlet, nike roshe run, chanel handbags, michael kors outlet online, gucci outlet, michael kors outlet, oakley sunglasses, longchamp outlet, nike free, true religion, jordan shoes, cheap michael kors, coach purses, air jordan, polo ralph lauren outlet, kate spade outlet, nike air max, true religion jeans, louboutin, nike shoes, oakley sunglasses, oakley sunglasses, polo ralph lauren outlet, coach factory, louboutin,

Coach Factory का कहना है कि -

nike free, oakley pas cher, north face outlet, herve leger, air max, celine handbags, burberry, hermes, reebok outlet, louis vuitton, nike air max, hollister, bottega veneta, mulberry, juicy couture outlet, p90x3, hogan, north face jackets, michael kors, louis vuitton, ferragamo shoes, new balance shoes, karen millen, abercrombie and fitch, nfl jerseys, insanity, supra shoes, hollister, mcm handbags, converse shoes, wedding dresses, chi flat iron, birkin bag, beats by dre, rolex watches, soccer shoes, lancel, marc jacobs, ralph lauren, vans, montre pas cher, valentino shoes, mont blanc, timberland, soccer jerseys, ray ban pas cher, yoga pants, lululemon, asics gel, ghd

Coach Factory का कहना है कि -

ralph lauren, canada goose, ray ban, canada goose outlet, oakley sunglasses cheap, ray ban outlet, louboutin, canada goose, cheap oakley, oakley sunglasses outlet, tn pas cher, oakley vault, rayban, oakley outlet, discount oakley sunglasses, canada goose outlet, ugg boots, ugg boots, oakley sunglasses cheap, cheap sunglasses, oakley sunglasses outlet, ugg, oakley sunglasses outlet, ray ban, ugg boots, canada goose, oakley vault, cheap oakley sunglasses, oakley, jimmy choo, oakley sunglasses cheap, canada goose, moncler outlet, cheap sunglasses, cheap oakley sunglasses, moncler, oakley vault, gucci, moncler, oakley outlet, cheap sunglasses, cheap oakley sunglasses, oakley outlet, moncler

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)