फटाफट (25 नई पोस्ट):

Monday, December 31, 2007

कुमुद अधिकारी को लघुकथा गौरव-07 सम्मान


यह बताते हुए अत्यंत हर्ष हो रहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य की सांस्कृतिक एवं वैचारिक संस्था 'सृजन-सम्मान' द्वारा आयोजित होने वाले २ दिवसीय (१६-१७ जनवरी) छठवें अ.भा. साहित्यमहोत्सव में हिन्द-युग्म के वरिष्ठ साथी श्री कुमुद अधिकारी को लघुकथा गौरव-07 से सम्मानित किया जायेगा। सम्मानस्वरूप इन्हें संस्था द्वारा प्रतीक चिन्ह, सम्मान पत्र, शॉल, श्रीफल, 1000 रुपयों की साहित्यिक कृतियाँ भेंट की जायेगी । इस आयोजन के उद्‌घाटन सत्र में संस्था इन्हें विशिष्ट अतिथि के रूप में सादर आमंत्रित किया है । इसके अलावा ये वहाँ नेपाली लघुकथा पाठ(अनुवाद सहित) भी करेंगे।

" सृजन-सम्मान, छत्तीसगढ़" राज्य के वरिष्ठ स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, राज्य निर्माण में बौद्धिक आंदोलन के अगुवा, इतिहासविद् तथा मार्गदर्शक साहित्यकार स्व. श्री हरि ठाकुर जी द्वारा संस्थापित साहित्यिक एवं वैचारिक संगठन है । संगठन द्वारा अब तक 60 कृतियों का प्रकाशन, 5 अखिल भारतीय साहित्य महोत्सव, 30 से अधिक संगोष्ठियों का आयोजन, 20 महत्वपूर्ण रचनाकारों का एकल रचना पाठ, विभिन्न शैक्षिक प्रतियोगिताओं का आयोजन सफलतापूर्वक किया जा चुका है । केंद्रीय इकाई, रायपुर द्वारा प्रतिवर्ष 24 से अधिक अ.भा.स्तरीय पुरस्कार (प्रदेश के संस्कृति पुरूषों की स्मृति में ) प्रदान कर सृजनात्मकता को प्रोत्साहित किया जाता है ।

संस्था के वर्तमान प्रादेशिक अध्यक्ष श्री सत्यनारायण शर्मा जी (विधायक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री)के कुशल मार्गदर्शन में छठवें अ.भा. साहित्यमहोत्सव का 2 दिवसीय आयोजन 16-17 फरवरी, 2008 को रायपुर में आयोजित किया जा रहा है । इस वर्ष विमर्श का केंद्रीय विषय हिंदी लघुकथाः 21वीं सदी की केंद्रीय विधा रखा गया है । समारोह में देश एवं विदेश के लब्ध प्रतिष्ठ साहित्यकार, विचारक, शिक्षाविद् एवं पत्रकार यथा- रवीन्द्र कालिया, निदेशक, भारतीय ज्ञानपीठ, दिल्ली, विश्वनाथ सचदेव, संपादक, नवनीत, मुंबई, केशरीनाथ त्रिपाठी, विचारक एवं राजनीतिज्ञ, लखनऊ, कमलकिशोर गोयनका, प्रेमचंद साहित्य विशेषज्ञ, दिल्ली, बुद्धिनाथ मिश्र, प्रख्यात गीतकार, सुभाष चंदर, आलोचक, दिल्ली, आदित्यप्रकाश सिंह, रेडियो सलाम नमस्ते, डैलास, युएसए आदि पधार रहे हैं । इसके अलावा कई प्रदेशों से लगभग 200 से अधिक लघुकथाकार आयोजन में सम्मिलित हो रहे हैं ।

इस छठवें आयोजन के प्रमुख आकर्षण हैं- 1.बारह कृतियों का विमोचन 2. लघुकथाः 21वीं सदी की केंद्रीय विधा-अतंरराष्ट्रीय संगोष्ठी 3. अंतरराष्ट्रीय लघुकथा पाठ एवं प्रदर्शनी 4. देश-विदेश के 35 प्रमुख रचनाकारों का सम्मान।

हिन्द-युग्म की ओर से कुमुद अधिकारी जी को बधाई।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

13 कविताप्रेमियों का कहना है :

sahil का कहना है कि -

कुमुद जी आपकी इस शानदार उपलब्धि पर हमारी तरफ़ से ढेरों शुभकामनाएं
नव वर्ष की शुभकामनाओं सहित
आलोक सिंह "साहिल"

कुमुद अधिकारी का कहना है कि -

धन्यवाद साहिल। यह सब आप सब की दुआ से संभव हुआ है।

कुमुद।

इरफ़ान का कहना है कि -

नए साल में आप और भी अधिक ऊर्जा और कल्पनाशीलता के साथ ब्लॉगलेखन में जुटें, शुभकामनाएँ.

www.tooteehueebikhreehuee.blogspot.com
ramrotiaaloo@gmail.com

seema gupta का कहना है कि -

"Congratulations sir on this great achievement" Wishing you new year wishes.

Regards

tanha kavi का कहना है कि -

कुमुद जी को बहुत-बहुत बधाई!
- विश्व दीपक 'तन्हा'

सजीव सारथी का कहना है कि -

कुमुद जी हिंद युग्म को आप पर नाज़ है, बधाई हो आपको बहुत बहुत, इस नव वर्ष पर इससे बेहतर क्या हो सकता था

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

'सृजन-सम्मान' द्वारा आयोजित होने वाले साहित्यमहोत्सव में श्री कुमुद अधिकारी जी को लघुकथा गौरव-07 से सम्मानित किया जाना हिन्द युग्म परिवार के लिये गौरव का विषय है। बहुत बधाई कुमुद जी।

***राजीव रंजन प्रसाद

कुमुद अधिकारी का कहना है कि -

इरफान जी, सीमा जी, विश्व दीपक तन्हा जी, सजीव सारथी व राजीव रंजन जी,
आप सब का आभार। आप लोगों की दुआ काम गर गई।

कुमुद।

Alpana Verma का कहना है कि -

कुमुद जी ,
बहुत- बहुत बधाई और ढेरों शुभकामनाएं!

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

कुमुद जी,

अत्यंत हर्ष हो रहा है जानकर ..
बहुत बहुत शुभकामनायें..

-राघव

कुमुद अधिकारी का कहना है कि -

धन्यवाद अल्पना जी और भूपेन्द्र जी। नव वर्ष की शुभकामनाएँ।

कुमुद।

Anonymous का कहना है कि -

इसमें लघुकथाकार को सम्मान करने वाली संस्था का भी लिंक दिया जाना चाहिए ताकि उसके बारे में भी अन्य रचनाकार जान सके ।

Avanish Gautam का कहना है कि -

कुमुद जी बधाई स्वीकारें!

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)