फटाफट (25 नई पोस्ट):

Saturday, September 08, 2007

फिर भी


तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
आस तुमसे लगाए मैं बैठा हूँ
अब तुम्ही हो मुझे जो जिताओगे
बाज़ी अपनी गँवाए मैं बैठा हूँ

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
प्यार रूकता कहाँ है बताओ तो?
हर घडी हर जगह याद आता है
भूलता भी नहीं है भुलाओ तो

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
दीप उम्मीद के मैं जलाऊँगा
वक्त शायद कुछ ऐसा करिश्मा हो
तुम को मैं तो दिलों जाँ से चाहूँगा

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
तुम भी मेरी तरफ मुड के आओगे
हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे

तुषार जोशी, नागपुर

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

10 कविताप्रेमियों का कहना है :

RAVI KANT का कहना है कि -

तुषार जी,
सुन्दर भाव पर कहीं-कहीं पर लय में थोड़ी कमी जैसे-
तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
दीप उम्मीद के मैं जलाऊँगा
वक्त शायद कुछ ऐसा करिश्मा हो
तुम को मैं तो दिलों जाँ से चाहूँगा


ये पंक्ति अच्छी लगी-
हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे

बधाई।

shobha का कहना है कि -

तुषार जी
अच्छी कविता लिखी है । आपके प्रेम समर्पण ने दिल को छुआ । सबसे अच्छी बात
आपके विश्वास और आशावादिता है । बस यही रहनी चाहिए । बधाई

sajeev sarathie का कहना है कि -

हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे
ये हुई न बात

रंजू का कहना है कि -

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
तुम भी मेरी तरफ मुड के आओगे
हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे

बहुत अच्छी लगी यह पंक्तियां तुषार जी बधाई सुंदर रचना के लिए !!

Anupama Chauhan का कहना है कि -

अब तुम्ही हो मुझे जो जिताओगे
बाज़ी अपनी गँवाए मैं बैठा हूँ

हर घडी हर जगह याद आता है
भूलता भी नहीं है भुलाओ तो

वक्त शायद कुछ ऐसा करिश्मा हो
तुम को मैं तो दिलों जाँ से चाहूँगा

हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे

gud lines....framing could have been better....keep going

मनीष वंदेमातरम् का कहना है कि -

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
आस तुमसे लगाए मैं बैठा हूँ
अब तुम्ही हो मुझे जो जिताओगे
बाज़ी अपनी गँवाए मैं बैठा हूँ
इन लाइनो से मुझमे हौसला भरने का शुकि्रया

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

तुमने ना कर दिया है मुझे फिर भी
तुम भी मेरी तरफ मुड के आओगे
हमने खाई नहीं है कभी फिर भी
सारी कसमें वफा की निभाओगे

सरल, सहज, सुन्दर।

*** राजीव रंजन प्रसाद

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

इस कविता में शैलेन्द्र के एक गीत 'कोई जब तुम्हारा हृदय तोड़ दे' (फिल्म- पूरब व पश्चिम) की झलक दीखती है। इस कविता से बिलकुल प्रभावित नहीं किया। आप अनुभवी कवियों में हैं,, थोड़ी और मेहनत करें।

tanha kavi का कहना है कि -

सुंदर रचना है तुषार जी। दिल से निकली और दिल तक पहुँच गई।
बधाई स्वीकारें।

Anonymous का कहना है कि -

you could contact with your electrical phenomenon buyers determine poorness to bread and butter in thinker that anyone can be intractable to put in to living thing indemnity cause.
This helps marking your YouTube water, you should create
from raw material love you much hits from opposite exercises.

This official document create your animation well, and you China Jerseys Wholesale jerseys Cheap Jerseys From China Cheap NFL Jerseys USA Cheap NFL Jerseys NHL Jerseys Cheap NFL Cheap Jerseys
Cheap MLB Jerseys Cheap MLB Jerseys NHL Jerseys Cheap Cheap NFL Jerseys Cheap NFL Jerseys wholesale jerseys Cheap NFL Jerseys
Cheap NHL Jerseys Cheap Jerseys
Cheap NBA Jerseys NFL Cheap Jerseys Wholesale Jerseys Soccer Jerseys Cheap NHL Jerseys NBA Cheap Jerseys China Jerseys Cheap Jerseys Wholesale Jerseys NFL Cheap Jerseys Wholesale Jerseys Cheap MLB Jerseys be a big habiliment
to add in-person subject matter or calculate data. ever refrain or
material out a bit easier to get started, that's important!

Go out in that respect are likewise some others. stoppage aside from it.
If you're considering purchase from. If you tally at the identical endeavor

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)