फटाफट (25 नई पोस्ट):

Thursday, January 01, 2009

नव वर्ष


वर्ष नव
हर्ष नव
शुभम् भवति
नव वर्ष नव
.
दर्श नव
स्पर्श नव
नव स्पंदित
आकर्ष नव
.
प्रकर्ष नव
उत्कर्ष नव
हरित हेम
नव कर्ष नव
.
मर्ष नव
अमर्ष नव
तम संहारक
भारतवर्ष नव
.
हर्ष नव
वर्ष नव
शुभम् भवति
नव वर्ष नव
.
आकर्ष -खिचाव, प्रकर्ष -उत्तमता, कर्ष-खेती, मर्ष-क्षमा, अमर्ष -क्रोध, तम-अंधकार

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 कविताप्रेमियों का कहना है :

manu का कहना है कि -

प्रथम पाठक की शुभ कामनाएं और सुंदर गीत की बधाई स्वीकारें ...

तपन शर्मा का कहना है कि -

बढ़िया कविता..
अंग्रेज़ी नव वर्ष की शुभकामनायें...

nitin jain का कहना है कि -

पड़कर अच्छा लगा...

सभी को नए वर्ष की शुभकामनाएं...

नया साल है, नए लम्हे हैं,
जी लेंगे पूरे जी भर कर...
नया पर्व है, नयी हैं खुशियाँ,
मनाएँगे सब मिल-जुल कर...

नया हौसला, नई उमंगें
जागेंगी दिल के अन्दर से...
नयी सोच है, ना है सीमा,
उड़ लेंगे ऊपर अम्बर से...

अपने हैं, नए सपने हैं,
साकार करेंगे हम सिलकर...
नया साल है, नए लम्हे हैं,
जी लेंगे पूरे जी भर कर...


धन्यवाद

Harihar का कहना है कि -

मर्ष नव
अमर्ष नव
तम संहारक
भारतवर्ष नव

आपको भी नव वर्ष की शुभकामनाओं के साथ

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)