फटाफट (25 नई पोस्ट):

Saturday, October 04, 2008

भारत के विधि एवम्‌ न्याय मंत्री द्वारा-डॉ० श्याम सखा'श्याम' की दो पुस्तकों का लोकार्पण


रविवार-२१ सितम्बर को गौड़ ब्राह्मण शिक्षा संस्थान रोहतक-के सभागार में भारत के विधि एवम्‌ न्याय मन्त्री,माननीय श्री हंसराज भारद्वाज ने डॉ श्याम सखा 'श्याम' की दो पुस्तकों -औरत वेद पांचवां [दोहा सतसई.हरियाणवी भाषा],व नावक के तीर [लघुकथा संग्रह-हिन्दी] का लोकार्पण किया।दोहा संग्रह पर बोलते हुए ख्यातिप्राप्त विद्वान श्री भारत भूषण संघीवाल ने बतलाया कि यह हरियाण्वी भाषा की पहली दोहा सतसई जरूर है पर यह किसी भाषा की इस विधा से टक्कर लेने में सक्षम है,एवम्‌ डॉ श्याम ने हरियाणवी लेखकों के सामने इस स्तर की रचना हेतु चुनौती खड़ी कर दी है।नावक के तीर पर महर्षि दयानन्द विश्विद्यालय के विभागाध्यक्ष डॉ हरिश्चण्दर वर्मा ने अपना साग्रभित आलेख पढा।

विधि मंत्री ने डॉ श्याम को विज्ञान व कला का अद्‌भुत संगमपुरुष कहा,उन्होने कहा कि उनके लिये यह और भी प्रसन्न्ता का विषय है कि डॉ श्याम उनके अपने परिवार के सद्स्य हैं।इस अवसर पर एक कवि-गोष्ठी का भी आयोजन हुआ,जिसमे सर्वश्री दरवेश भारती,कृष्णगोपाल विद्यार्थी,केवलकृष्ण 'पाठक.रूप मंज़र.वनीता सांघी व डॉ.श्याम सखा'श्याम' ने कविता पाठ किया

चित्रों में

Photobucket

Photobucket

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

13 कविताप्रेमियों का कहना है :

neelam का कहना है कि -

बधाई हो बधाई ,श्याम जी

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

5बहुत बहुत बधाई |

अवनीश तिवारी

निखिल आनन्द गिरि का कहना है कि -

नियंत्रक महोदय,
शीर्षक पढ़कर मुश्किल में पड़ गया की विधि-न्याय मंत्री द्वारा उदघाटन पर बधाई दूँ या पुस्तक प्रकाशित होने पर???

श्याम जी, आप मेरी बधाई स्वीकारें.....
निखिल

RC का कहना है कि -

बहुत बहुत बधाई !!

तपन शर्मा का कहना है कि -

बधाई स्वीकारें श्याम जी.

शोभा का कहना है कि -

श्याम जी ,
बहुत-बहुत बधाई.

sahil का कहना है कि -

अरे वाह! बधाइयाँ जी बधाइयाँ,.
आलोक सिंह "साहिल"

shyam का कहना है कि -

आप सभी को धन्यवाद. क्या आप हरयाणवी दोहे पढ़ना चाहेंगे श्यामसखा श्याम

rachana का कहना है कि -

आप को मेरी तरफ से दिल से मुबारक बाद
सादर
रचना

harkirathaqeer का कहना है कि -

bhot bhot bdhai.chliye ab nyi khani ki suruaat karen.... nikhil ji udghatan nahi, 'vimochan'.

neelam का कहना है कि -

अगर सीधी साधी हरियाणवी है ,तो जरूर पढेंगे श्याम जी

Rama का कहना है कि -

डा. रमा द्विवेदीsaid...

आदरणीय डा. श्याम जी,

नवीन पुस्तकों के विमोचन पर आपको मुबारकवाद और शुभकामनाएं ।

आलोक शंकर का कहना है कि -

badhai ho shaym ji

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)