फटाफट (25 नई पोस्ट):

Sunday, June 17, 2007

पापा! आप समझ रहें है ना?


पापा! जब मैं छोटा था,
आप उतनी बाते नहीं करते थे,
जितनी “माँ” करती थी।

पापा!
कभी-कभी जब जिद्द करता था,
रोता था, चुप नहीं कराते थे,
“माँ” दौड़ी चली आती थी।

पापा!
आप हर छोटी-बड़ी बात पर,
लम्बा भाषण दिया करते थे
और “माँ”
गौद में उठाकर चूम लिया करती थी।

पापा!
मुझे लगता था,
“माँ” ने मुझे आपार स्नेह दिया,
आपने कुछ भी नहीं,
आप मुझसे प्यार नहीं करते थे।

मगर पापा!
आज जब जीवन की,
हर छोटी-बड़ी बाधाओं को,
आपके “वे लम्बे-लम्बे भाषण” हल कर देते है,
मैं प्यार की गहराई जान जाता हूँ

पापा!
अब मैं समझ गया हूँ,
आपके “भाषण” का महत्व भी,
”माँ” के प्यार से कमतर नहीं
मेरी सफ़लता के हर कदम पर,
आपकी आँखों से,
जो बरबस छलक जाता है,
बरसो से दबा, प्रेम हैं...

पापा!
अब क्या कहूँ,
आप समझ रहें है ना?

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

58 कविताप्रेमियों का कहना है :

अनूप शुक्ला का कहना है कि -

बहुत अच्छी कविता लिखी है!

Sagar Chand Nahar का कहना है कि -

बहुत सुन्दर रचना जोशीजी,
दुनियाँ में माँ के अलावा यही एक ऐसा रिश्ता होता है जिसमें हर पिता चाहता है कि उसका बेटा उससे आगे बढ़े, और आगे बढ़ जाने पर उसे ईर्ष्या नहीं होती बाकी हर रिश्ते में कभी ना कभी इर्ष्या आ ही जाती है।

Alpana Verma का कहना है कि -

bahut khuub kavi raj !!!
aisa lagtaa hai sabhee PAPA ek se hote hein-
khuub likha aapne ''papa aap samjh rahen hein nah?'' mujhe pasand aaye-do teen baar padee-dil kee baat kah dee ho hai jaise.

Sabhee ko is din kee shubh kamnayen.
Alpana Verma

Mired Mirage का कहना है कि -

बहुत सुन्दर गिरि ! आपने इस रिश्ते की बारीकी को बहुत अच्छा समझा व पकड़ा । मुझे खुशी है कि इतनी जल्दी आप यह बात समझे । आमतौर पर यह तब समझ आती है जब व्यक्ति स्वयं पिता या माता बनता है ।
घुघूती बासूती

कच्चा चिट्ठा का कहना है कि -

पापा पर लिखी इस शानदार कविता पर बधाई।
सचमुच हृदय स्पर्शी है

श्रुति का कहना है कि -

बधाई हो गिरिराज जी..पिता शब्द के मायनो को शब्दों में उतार दिया आपने...

tanha kavi का कहना है कि -

पापा!
अब क्या कहूँ,
आप समझ रहें है ना?

bahut khub giri ji . pita ke mahatva ko kabhi bhi kam nahi kiya ja sakta.
ek bahut hi khubsoorat ewam hridaysparshi rachna ke liye apko badhai.

आर्य मनु का कहना है कि -

अक्सर ऐसा होता है, जब मुझे मेरे दिवंगत पापाजी याद आ जाते है ।
माना कि वे हमसे दूर रहते थे, हम सोचते कि वे हमें प्यार नही करते, पर अब समझ आता है कि वो हमें उनके पास क्यों नही आने देते थे । दरअसल उन्हे दमा था, और वे इसे हम तक नही पहुँचाना चाहते थे।
आज भी हमें लगता है जैसे कि वे टीबी अस्पताल मे भर्ती है, और हम यहाँ मम्मी के पास॰॰॰॰॰॰

आज पितृ दिवस पर आपकी कविता ने फिर से पापा को ज़िन्दा कर दिया ।
" आपरो घणे मान सूँ हाथ जोड्या परणाम"


आर्य मनु +91 98290 32491

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

इस कविता का अंत प्रभावित करता है। जैसे मधुमक्खी के छत्ते के नीचे के बिन्दु पर पूरा सान्द्र शहद चिपका होता है वैसे ही पिता के प्रति कवि की समस्त संवेदनाएँ अंतिम पंक्तियों में बद्ध हैं।

पिता को कविताओं में वि जगह नहीं मिली है, जिसके हक़दार यह है। आपने अच्छा विषय चुना है।

गौरव सोलंकी का कहना है कि -

बहुत खूब गिरिराज जी,
पिता को समर्पित आपकी कविता सच में दिल को छू गई।बहुत बधाई।

pure_heart257 का कहना है कि -

bahut achhi rachna hai,dil ko chune wali.

Suyash का कहना है कि -

पापा!
अब क्या कहूँ,
आप समझ रहें है ना?

bahut hi utkrisht panktiyan......dil ko chhoo gayi......itni shaandaar kavita likhne k liye aapko badhai.....
pita ...ye ek aisa rishta hai jiske prati hum apni bhaavnaayein pradarshit nahi karte bhale andar se bahut pyar aur samman bhara ho......par aapki is kavita ne wo saari baatein chand shabdo ein hi keh di jo ek bata apne pita se kehna chahta hai.......
aapko punah badhai.........ek bete ki taraf se.....

dilip200 का कहना है कि -

maan ki mamta ki tarah papa ka pyar bhii kam nahi hota. maine jana hai papa ka pyar kya hota hai ye baat or hai ki 13 saal pahle unka pyaar mujhse hamesha hamesha ke liye choot gaya per unki seekh jo mujhe dant lagti thi aaj bhii mere sath hai ............
bahut acchi kavita hai merii badhaai aapko

Gita ( Shamaa) का कहना है कि -

बहुत अच्छी कविता ,
हृदय स्पर्शी ....

पापा!
अब क्या कहूँ,
आप समझ रहें है ना?

बहुत सुन्दर ...
बधाई।

ritu का कहना है कि -

giraj ji ki yah kavita bahut hi sundar lagi. mata pita ke pyaar ko yadi pahle samajh liya jaye to aur bhi achha hoga. itni sundar abhivyakti ke liye bahut bahut badhayi.

रंजू का कहना है कि -

बहुत ही सुंदर रचना आज के दिन को पूर्ण रूप से सार्थक करती हुई ...

पापा!
अब मैं समझ गया हूँ,
आपके “भाषण” का महत्व भी,
”माँ” के प्यार से कमतर नहीं
मेरी सफ़लता के हर कदम पर,
आपकी आँखों से,
जो बरबस छलक जाता है,
बरसो से दबा, प्रेम हैं...


सच में पापा का प्यार ऐसा ही होता है ...यही उपरी ग़ुस्सा बच्चे का जीवन संवार देता है ....बहुत ही सुंदर लिखा है अपने कविराज जी ...बधाई

सुनील डोगरा ज़ालिम का कहना है कि -

कविराज कॊ प्रणाम।

मोहिन्दर कुमार का कहना है कि -

गिरी जी,
आजकल आपने रुलाने का ठेका ले लिया है क्या ?
भई हम बहुत सेन्टीमन्टल हैं.. आंसू जल्दी निकल आते हैं... बहुत सुन्दर लिखा है आप ने.

कुम्हार जब चाक पर बर्तन बनाता है तो एक हाथ ढीला (मां) और एक हाथ से बर्तन को सहारा देते हुये आकार (पिता) देता है..

कही हुयी एक एक बार समय पर याद आती है... सुन्दर भाव रचित कविता के लिये साधुवाद

अरुण का कहना है कि -

अच्छी रचना बहुत सही वक्त पर,

nripendra का कहना है कि -

Bhai Joshi ji !
Bahut badhiya likha hai aapne....Papa aap samajh rahe hai na. JIs bat ko kahane ke liye hume sabd nahi mile use aapne bahut saralta se kah diya....aapka dhanyabad.......

Sanjeet Tripathi का कहना है कि -

बहुत बढ़िया!!

राजीव रंजन प्रसाद का कहना है कि -

गिरिराज जी..
केवल इतना ही कहूँगा कि पिता के न होने की कमी को आपकी कविता की एक एक पंक्ति के साथ गहराई से महसूस किया है....मेरे आँसू आपकी कविता की सार्थकता का प्रमाण हैं।

*** राजीव रंजन प्रसाद

Anshul का कहना है कि -

Its very nice poem..
Very deep thougths are there through simple words..

mahashakti का कहना है कि -

पिता के प्रति सुन्‍दर पक्तिंयॉं

Rakesh Pasbola का कहना है कि -

भाई बहुत बहुत शुक्रिया, वरना हम से कुछ लो तो हमेशा गलतफहमी में ही रहते हैं लेकिन आपकी इस कविता में जो गूढ् रहस्‍य है शायद वो लोग समझ जाएं; सच कहूं मेरे पास शब्‍द नही है तारीफ के लिए. दुनिया मे माता और पिता की हर बात में कुछ ना कुछ छिपा होता है ये आपने बहुत ही सुन्‍दर कविता में बताया है.

ग्यारह साल का कवि का कहना है कि -

भैया आप बहुत अच्छा लिखते है सबके पापा एसे ही होते है,मम्मी ज्यादा प्यार करती है लेकिन पापा हमे बहुत प्यार करते है,हमारा खयाल भी रखते है,

अक्षय चोटिया

Anupama Chauhan का कहना है कि -

Very beautiful....i remember my dad giving me lectures....:)i miss those now.

Aflatoon का कहना है कि -

एक अत्यन्त सुन्दर , सहज , सरल रचना के लिये साधुवाद |

Gaurav Shukla का कहना है कि -

कविराज, बहुत अच्छी कविता है
बहुत सरलता से बहुत अच्छी बाते कह गये आप
बधाई

सस्नेह
गौरव शुक्ल

archana का कहना है कि -

jiriraj ji.......
aapki kavita per ker bahuuuuuuuut hi achcha laga......
papa gher ki jhat hote hai....
lakin jhat per kabhi kisi ki nazer nahi jaati.......aur gher bina jhat ke bante bhi nahi hai....

aise maa ke liye tu na jane kitna kaha jata hai......lakin aapne papa ke mook prayaso ko sunder terah se kaha hai......vo til til kerke chuk jata hai ....lakin kisi ko ahesaas nahi hota ....

aapke ahesaaso ko pranam kerti hoo
archana

राज कुमार का कहना है कि -

बहुत सुन्दर रचना जोशी जी

नेहा श्रीवास्‍तव का कहना है कि -

पापा पर लिखी इस शानदार कविता पर बधाई

रूपक का कहना है कि -

वाह

Shrish का कहना है कि -

सुन्दर कविता, पापा की जगह पिताजी शायद अधिक जँचता। :)

Pankaj Bengani का कहना है कि -

गहरी बात है.

बचपन में मुझे भी पापा खलनायक से कम नही लगते थे. वे घर मे होते थे तो हम जेल में होते थे.

पर आज लगता है, वो दौर भी सही ही था.. बस थोडे कम कडे होते तो अच्छा था. :)

sunita (shanoo) का कहना है कि -

गिरिराज मुझे बेहद अफ़सोस है कि इस बार मै लेट हो गई सभी लोग आपको टिप्पणीयाँ इतनी दे गये की मेरे लिये कुछ बच्चा ही नही...यहाँ तक की मेरा बेटा अक्षय भी मुझसे बाजी मार गया..मुझे लगता है की मै कोरे कागज़ पेर अपना नाम और शुभ-कामनाएं लिख दूँ तो चलेगा...:)

आपने बहुत सही लिखा है बचपन को जैसे की खूब जिया है...यही होता है माता-पिता की बातें जो बचपन में हमे भाषण लगती है बडे़ होने पर समझ आती है कि व्प कोरा भाषण नही होती,
मैने देखा था जब कभी पिताजी भाई को किसी बात पर डांटा करते थे(मुझे नही मै तो उनकी चहेती थी,ऐसा तो अकसर होता है लड़कियाँ पिता की लाड़ली होती है) माँ हमेशा आँचल में छुपा लिया करती थी,...
मगर आज बरबस उनकी आँखो से बहते आँसू ये बताते है की वो हमसे कितना प्यार करते थे...

मेरी एक कविता शायद आपने पढ़ी होगी...
अगर माता-पिता की परवरिश हो अच्छी,धे
तो कैसे बिगड़ेगी बच्चो की ये उम्र कच्ची ।
ढेर सारी शुभ-कामनाओं के साथ...

सुनीता(शानू)

संजय बेंगाणी का कहना है कि -

पापा बनने के बाद पता चला पापा क्या होते है :)

aniruddha का कहना है कि -

Giriraj ji, bahut bahut dhanyawad mujhe kuchh kahne ka mauka dene ke liye....agar aap bura na samjhen to main apni sachchi pratikriya dena chahunga.
aapne sachmuch bahut achcha vishay chuna aur aapka soch sachmuch utkrisht hai lekin ek cheez ki mujhe kami mahsoos hui, wo hai prastuti ki...kavita gadya ke zyada kareeb hai...baat ko kahne ki shaili me kavita ke pravaah ki thodi si kami hai...baaki vichar par aapko badhai..

notepad का कहना है कि -

वाकई बहुत सुन्दर भाव है ।बधाई !

Seema Kumar का कहना है कि -

दिल को छू गई ? बहुत खूब !

Anonymous का कहना है कि -

bahut khoob likha hai dil ko chhoo gai aapki kavita

Anonymous का कहना है कि -

it's touch my soul

Anonymous का कहना है कि -

बहुत ही सुन्दर
अन्त:करण में उतरती हुई

Laxman का कहना है कि -

man ko Cho liya aapki kavita ne

Shabnam Sinha का कहना है कि -

अति सुंदर, हृदय को स्पर्श करके आँखों से बाहर आई...

Shabnam Sinha का कहना है कि -
This comment has been removed by the author.
Shailendra dubey का कहना है कि -

GIRI JI BEHAD SUNDAR RACHNA K LIYA ABHINANDAN AUR SADHUWAD.....SHAILENDRA DUBEY AKOLA MAHARASHTRA

archana का कहना है कि -

Bahut sunder bhav hai kavita ka, kavita kya hriday ke udgar hain jo kavita ke madhyam se vyakt kiye hain aapne.asamay apne pita ko khone ke bad maine bhi kavita mai apna bhav pragat kiya thha.wo dard dil ko chhoota hai. Aapko dhanywad.archana garg

archana का कहना है कि -

Bahut sunder bhav hai kavita ka, kavita kya hriday ke udgar hain jo kavita ke madhyam se vyakt kiye hain aapne.asamay apne pita ko khone ke bad maine bhi kavita mai apna bhav pragat kiya thha.wo dard dil ko chhoota hai. Aapko dhanywad.archana garg

Ashok Arora का कहना है कि -

Anupam Rachna

Wenhao Guo का कहना है कि -

guowenhao20150619
nike running shoes
marc jacobs
cheap nhl jerseys
pandora jewelry
the north face outlet store
air jordan 4
the north face outlet
oakley sunglasses
polo ralph lauren outlet
ray ban wayfarer
new york giants jerseys
tods shoes
michael kors handbags
cheap snapbacks
polo ralph lauren outlet
cheap oakley sunglasses
new york knicks jersey
ray ban sunglasses
nike free 5.0
links of london uk
herve leger dresses
michael kors outlet
miami heat jersey
burberry outlet
michael kors outlet online
pandora jewelry
iphone 6 cases
jordan 11
burberry outlet online
kate spade uk
kobe shoes
tods outlet
ralph lauren outlet
thomas sabo uk
lebron shoes
burberry handbags
oakley sunglasses
nike roshe run
hollister clothing
seattle seahawks jerseys

Jianxiang Huang का कहना है कि -

0729
kate spade sale
mulberry outlet
burberry outlet
nike sneakers
ravens jerseys
hermes belts for men
vans for sale
nike free 5.0
ralph lauren uk
vikings jerseys
cartier love bracelet
soccer jerseys
nike free run uk
hermes bags
dwyane wade jersey
tim duncan jersey
nike free run
dansko outlet
nhl jerseys
gucci shoes
coach outlet store
barcelona football shirts
the north face outlet store
oakland raiders jerseys
toms shoes
san antonio spurs jerseys
burberry outlet online
rolex watches,swiss watch,replica watches,rolex watches for sale,replica watches uk,rolex watches replica,rolex watches for sales
coach outlet canada
new york knicks jersey
michael jordan jersey
oakley sunglasses
gucci outlet

Gege Dai का कहना है कि -

michael kors uk
mcm backpack
michael kors canada
swarovski outlet
hermes belt
hermes outlet
nba jerseys
cartier watches
ferragamo outlet
coach outlet online
nike uk store
gucci sunglasses
foamposite shoes
louis vuitton pas cher
true religion outlet
lacoste pas cher
michael kors outlet
mac cosmetics
cheap jordan shoes
ed hardy clothing
coach outlet canada
nike outlet store
coach outlet
gucci outlet online
polo ralph lauren
michael kors handbags
air jordan 13
michael kors handbags
louboutin pas cher
swarovski jewelry
coach outlet online
celine outlet online
timberland shoes
michael kors canada
air jordan 11
16.7.18qqqqqing

chenlina का कहना है कि -

kobe 10
beats by dr dre
basketball shoes
cheap jordan shoes
air jordans
coach outlet
gucci belts
coach outlet
lebron 13
louis vuitton purses
cheap jordan shoes
adidas uk
longchamp bags
tod's shoes
ralph lauren outlet
polo ralph lauren
jordan retro 3
adidas shoes
jeremy scott shoes
coach factory outlet
ray ban sunglasses
christian louboutin shoes
nike basketball shoes
louis vuitton bags
michael kors handbags
coach factory outlet
michael kors uk
mont blanc pens
michael kors handbags
cheap jordan shoes
true religion sale
jordan concords
louis vuitton outlet online
michael kors handbags
jordan 8
michael kors outlet
nike outlet store
louis vuitton handbags
insanity workout
louis vuitton outlet
chenlina20160729

raybanoutlet001 का कहना है कि -

michael kors handbags
nike huarache
michael kors handbags outlet
yeezy boost 350 white
nike blazer pas cher
nike trainers uk
michael kors handbags
michael kors handbags clearance
chaussure louboutin
adidas nmd runner

千禧 Xu का कहना है कि -

reebok outlet
adidas nmd
san antonio spurs
michael kors handbags
hugo boss outlet
christian louboutin shoes
cheap jordans
toms shoes
air force 1 shoes
michael kors handbags

محمد الخطيب का कहना है कि -



شركة عزل فوم بالرياض

شركة عزل فوم بالقطيف

شركه عزل فوم بالدمام

شركة عزل فوم بالقصيم


شركة عزل فوم بالجبيل


شركة عزل فوم بولي يورثين



شركة كشف تسربات المياه بالاحساء

1111141414 का कहना है कि -

air force ones
huarache shoes
pandora bracelet
nike air max 2017
nike mercurial vapor
kobe bryant shoes
kobe basketball shoes
curry 3
kobe basketball shoes
retro jordans

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)