फटाफट (25 नई पोस्ट):

Wednesday, December 20, 2006

चंद शेर


(1)
तरसेगा जब दिल तुम्हारा मेरी मुलाकात को।
ख़्वाबों में होंगे तुम्हारे हम उसी रात को।।
(2)
कहकर भी नहीं कहते वो सिर्फ डर के मारे।
सुनकर भी नहीं सुनते हम सिर्फ डर के मारे।।
(3)
प्यार करना प्यार पाना दोनों हैं बातें ज़ुदा।
कश्ती को हरदम किनारा कहाँ देता है खुदा।।
(4)
हम तो समझे थे कि अकेले हैं, अपना कोई हमारे पास नहीं।
तेरी ज़ानिब जो ये नज़र फेरी, करार मेरे दिल को तब आया।।
(5)
ख़्याल जब तुम्हारा आता है, दिल को मेरे यक़ीन होता है।
मेरे होने का कोई मतलब है, मेरी भी जग में कोई हस्ती है।।
(6)
हमने की एक शरारत, चेहरे को भाँपकर।
पर हाय, अंदाज़ा गलत निकला, हम बदनाम हो गये।।
(7)
यह खेल तो शुरू था एक अर्से से जानेमन।
यह बात और है कि ख़बर देर से हुई।।
(8)
रूतबा है हरसूं बम-ओ-मिसाइल का यक़ीनन।
फूलों की अहमियत तो इससे कम नहीं होती।।

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

4 कविताप्रेमियों का कहना है :

avinash का कहना है कि -

bahut achche sher hain aur achchhe hain aapke pryaas bhi shailesh ji.
meri shubhkaamnaayein sadaiv aapke saath hain.

avinash का कहना है कि -

bahut achche sher hain aur achchhe hain aapke pryaas bhi shailesh ji.
meri shubhkaamnaayein sadaiv aapke saath hain.

jeje का कहना है कि -

atlanta falcons jersey
adidas ultra boost
longchamp
yeezy boost
adidas stan smith
longchamp handbags
kyrie 3
michael kors outlet
adidas superstar UK
michael jordan shoes

jeje का कहना है कि -

nike roshe run
longchamp bags
hogan outlet online
michael kors outlet
speedcross
michael kors outlet
air max 90
lacoste sale
nike air max
adidas nmd

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)